5 जनवरी, शनिवार को साल की पहली शनि अमावस्‍या है. शनिवार के दिन अमावस्‍या पड़ने का संयोग खास होता है. इस दिन किए गए उपाय या दान का महत्‍व कई गुना अधिक होता है.

Ekadashi 2019: देखें एकादशी कैलेंडर, किस महीने किस तारीख को रखा जाएगा कौन सा व्रत…

इस दिन शनिदेव की पूजा का विशेष महत्‍व है. कहा जाता है कि इस दिन शनिदेव के नाम या मंत्रों का जाप करने और दान देने से सभी काम पूरे होते हैं.

Shani Amavasya

कैसे करें शनि देव की पूजा:
शनि अमावस्‍या के दिन शनिदेव की पूजा प्रदोष काल या रात में की जाती है. अगर आप इस दिन व्रत रख पाएं तो और भी अच्‍छा होगा. हर शनिवार को जिस तरह आप पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीप जलाते हैं, शनि अमावस्‍या के दिन भी जलाएं.

दीपक जलाने के बाद शनि चालीसा का पाठ करें. अगर आप पाठ नहीं कर रहे हैं तो आप शनि मंत्र का जाप भी कर सकते हैं.

Rashifal 2019: कैसा रहेगा साल 2019, राशि अनुसार जानें किसे मिलेगी तरक्‍की, क्‍या करें-क्‍या नहीं…

अगर आप पर शनि देव की टेढ़ी नजर है, यानी साढ़ेसाती और ढय्या का प्रभाव चल रहा है, तो काली गाय को बूंदी के लड्डू खिलाएं.

शनिदेव के इन नामों का जप करें
यम
बभ्रु
कोणस्थ
पिंगल

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.