Shani Transit 2020: अगर आपकी राशि में शनिदेव की साढ़ेसाती या ढैया शुरू हुई है तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए. दरअसल, शनिदेव ने 24 जनवरी को मकर राशि में प्रवेश किया है.

मकर राशि में प्रवेश के साथ ही कई राशियों पर साढ़ेसाती, ढैया शुरू हो गई है. न्याय के देवता शनिदेव की इस दशा में अधिकतर लोगों को कठिनाई का सामना करना पड़ता है.

शनिदेव का मकर राशि में प्रवेश, इन तीन राशियों पर शुरू हुई साढ़ेसाती, इन पर ढैया…

अगर आपकी कुंडली में शनिदेव क्रूर, कमजोर हैं या उनकी दशा-महादशा आप पर है तो आपको निम्‍न उपाय आजमाने चाहिए.

– शनिवार को शनिदेव को तेल अर्पित करें. तेल का दीया जलाएं. दशरथ कृत स्रोत का पाठ करें.

– बजरंग बाण और सुंदरकांड का पाठ करें.

– सिद्ध शनि यंत्र का सरसों के तेल से अभिषेक करें.

– यथाशक्ति गरीबों की सेवा करें.

– शनि स्रोत का पाठ करें

– शमी के पेड़ की, शमी की लकड़ी का पूजन करें.

Maha Shivratri 2020: कब है महाशिवरात्रि, महत्‍व, 49 मिनट का शुभ मुहूर्त, व्रत विधि

– पीपल के वृक्ष पर हर शनिवार सरसों के तेल का दीपक जलाएं एवं पेड़ के आसपास सफाई रखें.

– काली उड़द का दान दें. काली उड़द को जल में प्रवाहित करें.

– शनिदेव के 10 नामों का जप 108 बार करें.

– हनुमान जी की पूजा करें. बंदरों को गुड़-चना खिलाएं.

शनिदेव के मंत्र

ॐ शं शनैश्चराय नमः

ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः

ॐ शन्नो देविर्भिष्ठयः आपो भवन्तु पीतये। सय्योंरभीस्रवन्तुनः।

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.