शनिदेव ऐसे देव हैं जिससे लोग डरते हैं. वे इस बात से चिंतित रहते हैं कि कहीं उन पर शनिदेव की बुरी दृष्टि ना पड़ जाए.

अगर आप भी इस बात से परेशान हैं तो कुछ उपायों को अपनाकर इस भय को दूर कर सकते हैं.

– शुक्रवार रात काला चना पानी में भिगोएं और फिर शनिवार को वह काला चना, जला हुआ कोयला, हल्दी और लोहे का एक टुकड़ा लें और एक काले कपड़े में उन्हें एक साथ बांध लें. पोटली को बहते हुए पानी में फेंके लेकिन ध्यान दे जिस पोटली को आप तालाब में फेंक रहें है उसमे मछलियां हों.

– काले घोड़े की नाल आएं. इसे लोहार के यहां देकर अंगूठी बनवा लें. शुक्रवार रात को कच्चे दूध में भीगाकर रखें. शनिवार को पहनें.

– शनिवार को पीपल के वृक्ष के चारों ओर सात बार कच्चा सूत लपेटें. शनि मंत्र का जाप करें. धागा लपेटने के बाद पीपल के पेड़ की पूजा और दीपक जलाना अनिवार्य है.

– काली गाय की पूजा करें. जीवन में शनि देव का बुरा प्रभाव नहीं होगा.

इन नामों का जप करें-
यम
बभ्रु
कोणस्थ
पिंगल
शनैश्चर
मंद
रौद्रान्तक
सौरि
कृष्ण
पिप्पलाद