Shardiya Navratri2019 में मां दुर्गा का पूजन किया जाता है. मां दुर्गा के पूजन में कई चीजों की आवश्‍यकता होती है. Also Read - Navratri 2020: शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए माता दुर्गा की पान के पत्तों से करें पूजा, मनोकामनाएं होंगी पूरी

Also Read - Mistakes During Navratri Fast: नवरात्रि के व्रत में अपनी डाइट में ना करें ये गलतियां, स्वास्थ पर पड़ेगा गलत असर

नवरात्रि का आरंभ 29 सितंबर, रविवार से हो रहा है. इसी दिन घटस्‍थापना की जाएगी. Also Read - Shardiya Navratri 2020: नवरात्रि पर इस तरीके से करें मां की पूजा, घर में हमेशा रहेगा लक्ष्मी का वास

मां दुर्गा के पूजन में लगने वाली सामग्री इस प्रकार है-

– सबसे पहले मां दुर्गा की फोटो या मूर्ति की आवश्‍यकता होती है.

– एक चौकी या मंदिर, जिस पर मां की मूर्ति या फोटो स्‍थापित की जाएगी.

– चौकी पर बिछाने के लिए लाल या पीला कपड़ा.

– चढ़ाने के लिए लाल चुनरी.

Shardiya Navratri 2019: घटस्‍थापना का शुभ मुहूर्त, जानें नियम, आवश्‍यक सामग्री, विधि…

– नौ दिन पाठ करने के लिए मां दुर्गा की किताब दुर्गासप्‍तशती किताब खरीदें. चालीसा व आरती की किताब.

– कलश स्‍थापना के लिए कलश. आम के पत्‍ते.

– ताजा, धुले हुए आम के पत्‍तों के साथ फूल और माला.

– नारियल, जिसे छिला ना गया हो. इसे जटा वाला नारियल भी कहते हैं.

– पान, सुपारी, इलायची, लौंग, कपूर, रोली, सिंदूर, मौली (कलावा), चावल.

– यदि आप अखंड ज्योति जलाने वाले हैं तो उसके लिए भी सामग्री इस प्रकार हैं:

पीतल या मिट्टी का साफ दीपक, घी, लंबी बत्ती के लिए रुई या बत्ती, दीपक पर लगाने के लिए रोली या सिंदूर, घी में डालने और दीपक के नीचे रखने के लिए चावल

– यदि आप नवरात्र‍ि के पहले दिन या नौ दिन हवन करना चाहते हैं तो यह सामग्री खरीद लें:

हवन कुंड, आम की लकड़ी, हवन कुंड पर लगाने के लिए रोली या सिंदूर, काले तिल, चावल, जौ (जवा), धूप, चीनी, पांच मेवा, घी, लोबान, गुगल, लौंग का जौड़ा, कमल गट्टा, सुपारी, कपूर, हवन में चढ़ाने के लिए प्रसाद की मिठाई और नवमी को हलवा-पूरी और आचमन के लिए शुद्ध जल.

किस दिन किस देवी की पूजा

पहले दिन शैलपुत्री, दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी, तीसरे दिन चंद्रघंटा, चौथे दिन कुष्मांडा, पांचवें दिन स्कंदमाता, छठे दिन कात्यानी, सातवें दिन कालरात्रि, आठवें दिन महागौरी, नवें दिन सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.