Shardiya Navratri 2020: शारदीय नवरात्रि में 9 दिनों तक मां दुर्गा के विभिन्न रूपों का पूजन होता है. ये बेहद सौभाग्यपूर्ण व पवित्र दिन माने गए हैं. लेकिन इस बार की नवरात्रि इसलिए खास है क्योंकि हर दिन कोई न कोई विशेष संयोग बन रहा है. Also Read - 600 साल में पहली बार इस शहर में रावण के साथ नहीं जलेंगे मेघनाद और कुम्भकरण, जानिए

शुभ संयोग Also Read - Bank Holiday: आज से तीन दिन बंद रहेंगे बैंक, ATM मिले खाली तो टॉलफ्री नंबर पर तुरंत बताएं

– इस बार शारदीय नवरात्रि में चार सर्वार्थसिद्धि योग बन रहे हैं. ये योग 17 अक्टूबर, 19 अक्टूबर, 23 व 24 अक्टूबर को हैं. Also Read - Navratri 2020 Kanya Pujan: आज अष्टमी-नवमी, इस शुभ मुहूर्त पर करें कन्या पूजन, ये है पूजा की विधि

– 18 व 24 अक्टूबर को सिद्धि महायोग बन रहा है. 17 अक्टूबर, 21 व 25 अक्टूबर को अमृत योग भी बन रहा है.

– 18 अक्टूबर को प्रीति, 19 अक्टूबर को आयुषमान, 20 अक्टूबर को सौभाग्य योग बन रहा है.

शारदीय नवरात्रि
नौ दिनों का ये पर्व 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा है. घटस्थापना पर विशेष संयोग बन रहा है. अभिजित मुहूर्त प्रात:काल 11:44 बजे से 12:29 बजे तक रहेगा. पहले दिन घटस्थापना होती है और मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है.

नवरात्रि के नौ दिन के दौरान मां के नौ स्वरूपों शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धदात्री की पूजा की जाती है.

नवमी-दशमी एक दिन
25 अक्टूबर को महानवमी व विजयादशमी (दशहरा) हैं. दशमी 25 अक्टूबर रविवार को है. इस दिन सुबह 7.41 बजे तक नवमी तिथि है. बाद में दशमी शुरू होगी जो दूसरे दिन प्रातः नौ बजे तक ही रहेगी. इसलिए दुर्गा नवमी व दशहरा पर्व 25 अक्टूबर को मनाए जाएंगे.