Shiv Pujan Vidhi: भगवान शिव को भोले भंडारी कहा जाता है. वे अपने भक्‍तों की सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाले देव कहे गए हैं. Also Read - Mahashivratri 2021 Puja Niyam: महाशिवरात्रि से पहले जान लें भगवान शिव की पूजा के ये कुछ खास नियम

भगवान शिव की पूजा विधि बेहद आसान है. भोलेनाथ को उनकी प्रिय वस्‍तुओं का भोग लगाने मात्र से ही व्रत का पूर्ण फल प्राप्‍त हो जाता है. Also Read - Astrology Tips For Shiv Puja On Monday: ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सोमवार के दिन ऐसे करें भोलेनाथ की पूजा, मिलेगी शांति और खुशियां

लोग सोमवार को भोलेनाथ का व्रत रखते हैं. सोमवार व्रत रखकर कई कामनाओं संग भगवान शिव की पूजा करते हैं. पर अगर आप व्रत नहीं रख सकते तो भी सोमवार के दिन भगवान शिव के पूजन से उन्‍हें खुश कर सकते हैं. Also Read - Hartalika Teej 2020: माता पार्वती ने भगवान शिव के लिए रखा था तीज का व्रत, ऐसे मिला था अखंड सुहाग का वरदान, जानें इसकी कथा

शनिदेव को खुश करने को रखें शनिवार का व्रत, इन बातों का रखें ख्‍याल

इसके लिए आपको पहले ये जानना होगा कि भगवान शिव की प्रिय वस्‍तुएं कौन सी हैं. उनके पूजन के दौरान उन्‍हें किन चीजों का भोग लगाना चाहिए.

बिल्व पत्र शंकर जी को बहुत प्रिय हैं. बिल्व अर्पण करने पर शिवजी अत्यंत प्रसन्न होते हैं और मनचाही मुराद पूरी होती है.

सोमवार को भगवान शिव के व्रत या पूजन के दिन, महामृत्युंजय मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए. इस जप से मन को शांति एवं सुख-समृद्धि प्राप्त होती है.

इसके अलावा नमः शिवाय, ऊँ नम: शिवाय मंत्र का जाप करना चाहिए.

Panchang 2020 Hindu Calendar: होली, करवाचौथ, दिवाली, कब पड़ेगा कौन सा त्‍योहार, देखें 2020 का कैलेंडर

सोमवार के दिन जल्दी उठकर स्‍नान करें. पूजा के स्थान पर जाकर भगवान शिव के साथ माता पार्वती और नंदी को गंगाजल और दूध चढ़ाएं.

शिवलिंग पर धतूरा, भांग, आलू, चंदन, चावल चढ़ाएं और सभी को तिलक लगाएं. धूप, दीप से गणेश जी की आरती करें. भगवान शिव की आरती करें और सच्चे मन से उनकी पूजा-अर्चना करें.

पूजा को संपन्न करने के लिए भगवान शिव को घी, शक्कर या प्रसाद का भोग लगाएं. फिर इसे परिवारजनों को बांटे. खुद भी ग्रहण करें.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.