हिन्दू धर्म में सावन या श्रावण महीने का खास महत्व है. इस महीने में भगवान शंकर की पूजा की जाती है. ऐसी मान्यता है कि सावन के महीने में सोमवार को व्रत रखने और भगवान शंकर की पूजा करने वाले जातक को मनवांछित जीवनसाथी प्राप्त होता है और जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ती है. विवाहित औरतें यदि श्रावन महीने का सोमवार व्रत रखती हैं तो उन्हें भगवान शंकर सौभाग्य का वरदान देते हैं. Also Read - Hariyali Teej 2018: हर‍ियाली तीज के बारे में ये 10 बातें आपको जरूर मालूम होनी चाह‍िए

Also Read - Hariyali Teej 2018: पति-पत्‍नी के बीच नहीं तालमेल, तीज के दिन जरूर करें ये एक काम, बन जाएगी बात

बहुत से लोग सावन या श्रावण के महीने में आने वाले पहले सोमवार से ही 16 सोमवार व्रत की शुरुआत करते हैं. सावन महीने की एक बात और खास है कि इस महीने में मंगलवार का व्रत भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती के लिए किया जाता है. श्रावण के महीने में किए जाने वाले मंगलवार व्रत को मंगला गौरी व्रत कहा जाता है. Also Read - सावन में महादेव के रंग में रंग गई राम की अयोध्या, लगेगा कांवरियों का मेला, नेशनल हाईवे रहेगा बंद

सोमवार शाम पढ़ें शिव चालीसा, भोलेनाथ प्रसन्न होकर देंगे यह वरदान

कब से शुरू हो रहा है सावन: 

इस साल श्रावण महीने की शुरुआत 27 जुलाई से हो रही है. लेकिन इसे उदया तिथि यानी 28 जुलाई से मानी जाएगी. 26 अगस्त को श्रावण मास का आखिरी दिन होगा. 26 अगस्त को सोमवार नहीं है.

कितने सोमवार: 

इस साल श्रावण मास में 4 सोमवार पड़ेंगे. अगर आप सावन के महीने में सोमवार व्रत रखते हैं तो इस साल आपको सिर्फ चार ही व्रत रखने होंगे.

महत्वपूर्ण तिथियां: 

28 जुलाई 2018: श्रावण मास शुरू, पहला दिन

30 जुलाई 2018: सावन का पहला सोमवार व्रत

06 अगस्त 2018: सावन सोमवार व्रत

11 अगस्त 2018: हरियाली अमावस्या

13 अगस्त 2018: सावन सोमवार व्रत और हरियाली तीज

20 अगस्त 2018: सावन सोमवार व्रत

26 अगस्त 2018: सावन माह का अंतिम दिन