Shravan 2019: सावन का पवित्र महीना 17 जुलाई से शुरू हो रहा है. शिव भक्तों के लिए यह महीना बेहद खास होता है.

इस महीने में शिवभक्‍त कई नियमों का पालन करते हैं. खानपान में विशेष सावधानी बरती जाती है.

हालांकि इसके पीछे लोगों की धार्मिक मान्‍यताएं हैं, पर आपको जानकर हैरानी होगी कि ये नियम सेहत की दृष्टि से बेहद फायदेमंद साबित हुए हैं.

Shravan 2019: सावन में आएंगे ये व्रत-त्‍योहार, आज से ही करें तैयारी, देखें List

इसलिए हम आपको हर नियम की वजह से होने वाले फायदों के बारे में भी बताने जा रहे हैं.

– सावन में हरे रंग का खास महत्व होता है. महिलाएं हरी चूड़ियां पहनती हैं पर इस दौरान हरी सब्जियों को खाना मना होता है. इसकी वजह ये है कि इस महीने में हरी पत्तेदार सब्जियां शरीर में वात को बढ़ाती हैं. अगर वैज्ञानिक कारण देखा जाए तो सावन का महीना बारिश का होता है और पत्तेदार सब्जियों में कीड़े मिलते हैं, इसलिए इनके सेवन से लोगों को बचना चाहिए.

– कच्चे दूध के सेवन की मनाही होती है. कहा जाता है कि कच्चा दूध भगवान को अर्पित किया जाता है, इसलिए इसका सेवन करने से बचना चाहिए. पर ऐसा इसलिए भी है क्‍योंकि बारिश के इस मौसम में पाचन उतना अच्‍छा नहीं होता.

– सावन के दौरान कढ़ी भी खाने की मनाही होती है. कहा जाता है कि कढ़ी में प्याज और दूध से बनने वाली दही का इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए इसे नहीं खाना चाहिए.

– मांस मच्‍छी के सेवन की मनाही होती है. इसी तरह लहसुन, प्‍याज के सेवन से बचने को कहा जाता है. इस समय में तामसिक प्रवृत्ति के भोजनों को ना खाने की परंपरा इसका कारण है.

Shravan 2019: यहां सावन में हर रोज आते हैं 1 लाख श्रद्धालु, पूरी होती है हर मनोकामना

सावन के सोमवार
इस बार सावन में 4 सोमवार आएंगे. पहला सोमवार 22 जुलाई 2019 को है. दूसरा 29 जुलाई को और तीसरा सोमवार 5 अगस्त को है. इसी बीच 31 जुलाई 2019 को हरियाली अमावस्या भी है. चौथा और सावन का आखिरी सोमवार 12 अगस्त को है. 15 अगस्त को सावन का आखिरी दिन है.

बहुत से लोग सावन या श्रावण के महीने में आने वाले पहले सोमवार से ही 16 सोमवार व्रत की शुरुआत करते हैं. सावन महीने की एक बात और खास है कि इस महीने में मंगलवार का व्रत भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती के लिए किया जाता है. श्रावण के महीने में किए जाने वाले मंगलवार व्रत को मंगला गौरी व्रत कहा जाता है.