Shravan 2019: सावन का पवित्र महीना 17 जुलाई से शुरू हो गया है. शिव भक्तों के लिए यह महीना बेहद खास होता है.

पर इस महीने में आने वाले सोमवार को भगवान शिव की विशेष पूजा करने का विधान बताया गया है. कहा गया है कि इस दिन भगवान शिव के विधि-विधान पूजन से वे प्रसन्‍न होते हैं और मनचाहा वरदान देते हैं.

सोमवार व्रत से मिलता है ये वरदान

– सावन के सोमवार को भगवान शंकर की आराधना करने से न सिर्फ रुके हुए काम पूरे होते हैं, बल्कि भक्तों पर भगवान की विशेष कृपा होती है.

– सोमवार को शिव पूजा करने वाली युवतियों को मनोवांछित वर प्राप्त होता है. वहीं, युवकों को भी उनकी पसंद की कन्या मिलती है.

– भगवान शिव और मां पार्वती की पूजा करने वाले भक्तों पर भगवान प्रसन्न होते हैं. कहा गया है कि जिनके विवाह आदि में रुकावट आ रही हो, उन्हें निश्चित रूप से सावन मास के सोमवार का व्रत करना चाहिए.

– जिन भक्तों ने पहले सावन के सोमवार का व्रत नहीं किया है, वे भी सावन मास के पहले सोमवार से इस व्रत की शुरुआत कर सकते हैं.

सावन के सोमवार
इस बार सावन में 4 सोमवार आएंगे. पहला सोमवार 22 जुलाई 2019 को है. दूसरा 29 जुलाई को और तीसरा सोमवार 5 अगस्त को है. इसी बीच 31 जुलाई 2019 को हरियाली अमावस्या भी है. चौथा और सावन का आखिरी सोमवार 12 अगस्त को है. 15 अगस्त को सावन का आखिरी दिन है.

बहुत से लोग सावन या श्रावण के महीने में आने वाले पहले सोमवार से ही 16 सोमवार व्रत की शुरुआत करते हैं. सावन महीने की एक बात और खास है कि इस महीने में मंगलवार का व्रत भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती के लिए किया जाता है. श्रावण के महीने में किए जाने वाले मंगलवार व्रत को मंगला गौरी व्रत कहा जाता है.