नई दिल्ली: भारत में आज यानी 21 जून को सूर्यग्रहण लगने वाला है. देश के कुछ हिस्सों में रविवार को वलयाकार सूर्यग्रहण दिखाई देगा, जिसमें सूर्य ‘अग्नि वलय’ की तरह दिखाई देगा. आज लगने वाला सूर्य ग्रहण वलयाकार होगा. वलयाकार उस स्थिति को कहते हैं जब चंद्रमा पूरी तरह से सूर्य को नही ढक पाएगा. मतलब चंद्रमा, सूर्य को इस प्रकार से ढकता है, कि सूर्य का केवल मध्य भाग ही छाया क्षेत्र में आता है और पृथ्वी से देखने पर चन्द्रमा द्वारा सूर्य पूरी तरह ढका दिखाई नहीं देता बल्कि सूर्य के बाहर का क्षेत्र प्रकाशित होने के कारण कंगन या वलय के रूप में चमकता दिखाई देता है. Also Read - Solar Eclipse 2020: सूर्य ग्रहण की भारत और दुनिया के कई देशों से सामने आईं ये फोटोज

भारत में कितने बजे दिखाई देगा सूर्यग्रहण Also Read - Solar Eclipse 2020 Myths: जानें कितने सही हैं ग्रहण के दौरान गर्भावस्था से जुड़े ये मिथक

भारत के अलग- अलग राज्यों में सूर्यग्रहण के समय में कुछ मिनटों का अंतर नजर आएगा. देश की राजधानी दिल्ली में यह सूर्य ग्रहण 10.20 मिनट पर शुरू होगा. और 1 बजकर 49 मिनट पर खत्म होगा. वहीं. नेहरू प्लानेटेरियम के अनुसार, भुज भारत का पहला शहर होगा जहां से ग्रहण की शुरुआत सुबह 9.58 बजे होगी. राजस्थान के घड़साना के पास सुबह लगभग 10 बजकर 12 मिनट पर सूर्यग्रहण की वलयाकार गति शुरू होगी और पूर्वाह्न लगभग 11 बजकर 49 मिनट पर वलयाकार चरण शुरू होगा तथा पूर्वाह्न 11 बजकर 50 मिनट पर यह चरण समाप्त होगा. कोलकाता में आंशिक सूर्यग्रहण की शुरुआत 10:46 बजे होगी और इसका समापन अपराह्न 2:17 बजे होगा. Also Read - Solar Eclipse 2020 Mantra: सूर्य ग्रहण के दौरान करें इन मंत्रों का जाप, दूर हो जाएगें सभी संकट

कहां दिखाई देगा सूर्य ग्रहण

यह सूर्य ग्रहण भारत, नेपाल, पाकिस्तान, सऊदी अरब, यूऐई, एथोपिया तथा कोंगों में दिखाई देगा. देहरादून, सिरसा तथा टिहरी कुछ प्रसिद्ध शहर हैं जहाँ पर वलयाकार सूर्यग्रहण दिखाई देगा. नई दिल्ली, चंडीगढ़, मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, बंगलौर, लखनऊ, चेन्नई, शिमला, रियाद, अबू धाबी, कराची, बैंकाक तथा काठमांडू आदि कुछ प्रसिद्ध शहर हैं जहाँ से आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा.

कहां नहीं दिखाई देगा सूर्य ग्रहण

यह सूर्य ग्रहण उत्तर अमेरिका, दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के देशों और ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप के अधिकांश हिस्सों से दिखाई नहीं देगा. इनके अतिरिक्त यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, इटली, जर्मनी, स्पेन और कुछ अन्य यूरोपीय महाद्वीप के देशों से सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देगा.