Surya Grahan 2019: नए साल का पहला सूर्य ग्रहण 6 जनवरी यानी आज रविवार को है. हालांकि इस बार आंशिक सूर्य ग्रहण होगा, जो कि धरती के उत्‍तर-पूर्वी एशिया और उत्‍तरी पैसिपिफक देशों में दिखाई देगा. भारत के लोग इस सूर्य ग्रहण को दीदार नहीं कर पाएंगे मगर इसका प्रभाव ना पड़े इसलिए इसके उपाय करना जरूरी है. इस बार का सूर्य ग्रहण भारतीय समयानुसार सुबह 5:04 मिनट से शुरू होकर 9:18 बजे खत्‍म हो जाएगा.

Surya Grahan 2019: यहां दिखेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, गर्भवती महिलाएं बिल्कुल ना करें ये 3 काम

ग्रहण के दौरान लोग ग्रहण के दुषप्रभाव से बचने के लिए कई तरीकों को आज़माते हैं. जैसे सूर्य ग्रहण लगने से पहले दूध-दही जैसी चीजों में तुलसी के पत्ते डाल देना, ग्रहण से पहले ही सारा खाना खाकर खत्म करना, सोना नहीं, सब्जियों या फलों को ना काटना और घर में बंद रहना. लेकिन क्या आप जानते सूर्य ग्रहण के बाद भी लोग ऐसे ही कुछ कामों को करते हैं. क्योंकि लोगों का मानना है कि ग्रहण के बुरे प्रभाव से खुद को और अपने घर को बचाने के लिए कुछ उपाय किये जाना जरूरी है. यहां आप भी जानें कि आखिर वो कौन-से ऐसे काम हैं जिन्हें लोग ग्रहण के बाद किया करते हैं.

  1. मान्यता है कि ग्रहण के तुरंत बाद किसी भी काम को करने से पहले स्‍नान जरूरी करना चाहिए.
  2. सिर्फ खुद को ही नहीं बल्कि घर के मंदिर में मौजूद सभी भगवानों की मूर्तियों को भी नहलाना या फिर गंगाजल छिड़कना चाहिए.
  3. मूर्तियों और खुद को नहलाने के बाद पूरे घर में धूप-बत्ती कर शुद्धीकरण करना चाहिए.
  4. घर में या बाहर मौजूद तुलसी के पौधे को भी गंगाजल डालकर स्वच्छ करना चाहिए.
  5. कुछ लोग तो अपने घरों को भी पानी से धो डालते हैं.
  6. मान्यता है कि ग्रहण के बाद मन की शुद्धी के लिए दान-पुण्य भी करना चाहिए.

Surya Grahan 2019: भारत में नहीं यहां दिखेगा आंशिक सूर्य ग्रहण, जानें सही समय

किसे कहते हैं ग्रहण
रविवार छह जनवरी को आंशिक सूर्य ग्रहण होने वाला है. हालांकि यह सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा. रविवार के दिन चंद्रमा पृथ्वी और सूर्य के बीच आ जाएगा. चंद्रमा के इस तरह बीच में आने से धरती पर उसकी छाया पड़ेगी, जिसे ग्रहण कहा जाता है. हालांकि यह आंशिक सूर्य ग्रहण है और भारत में आप इसे नहीं देख पाएंगे. यह आंशिक सूर्य ग्रहण उत्‍तर-पूर्वी एशिया और उत्‍तरी पैसिपिफक देशों में दिखाई देगा. यानी यह जापान, कोरिया, मंगोलिया, ताइवान और रूस व चीन के पूर्वी छोर के अलावा अमेरिका के पश्चिमी हिस्‍से में भी यह ग्रहण दिखाई देगा.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.