नई दिल्ली:  हिंदू पंचांग के अनुसार, मार्गशीर्ष मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को सोमवती अमावस्या (Somvati Amavasya) पड़ती है. इस साल सोमवती अमावस्या 14 दिसंबर को पड़ रही है. सोमवार के दिन अमावस्या की तिथि पड़ने के कारण इसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है. आपतो बता दें कि इसी दिन साल 2020 का आखिरी सूर्य ग्रहण भी लगने जा रहा है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन विशेष उपाय (Somvati Amavasya 2020 Upay) करने से जीवन में खुश और समृद्धि आती है. आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में – Also Read - Somvati Amavasya 2020 Date: इस दिन है सोमवती अमावस्या, जानें सुहागिन महिलाएं क्यों रखती हैं इस दिन व्रत

– नौकरी से जुड़ी समस्याओं के जूझ रहे लोगों को इस दिन ओंकार मंत्र का जप करना चाहिए. इस दिन रोटी में सरसों का तेल लगाकर कुत्ते को खुलाने से सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं. Also Read - भक्ति पर कोरोना की पाबंदी: कोविड19 के चलते सीएम रावत की श्रद्धालुओं से अपील- सोमवती अमावस्या पर हरिद्वार न आएं

– इस दिन पीपल के पेड़ और भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए. इस दिन पीपल के पेंड की 108 बार परिक्रमा करनी चाहिए. Also Read - सोमवती अमावस्या पर हरिद्वार में डुबकी नहीं लगा सकेंगे श्रद्धालु, सीमाएं सील

– सोमवती अमावस्या के दिन तुलसी मां की पूजा करनी चाहिए. इस दिन तुलसी को जल और फूल चढ़ाने चाहिए. इससे व्यक्ति के जीवन की सभी समस्याएं खत्म हो जाती है.

– इस दिन पीपल के पेड़ पर 108 बार कच्चा सूत लपेटना चाहिए. साथ ही 108 फल अर्पित करके उन्‍हें अलग रख लें. पूजा पूरी होने के बाद इन फलों को बच्चों और ब्राह्मणों को बांट दें.

– अमवस्या तिथि पर गाय को हरा चारा, मछलियों को आटे की गोली और चींटियों के लिए शक्कर मिश्रित आटा डालना चाहिए. इससे घर में सुख और समृद्धि आती है.