दिल्ली के सबसे बड़े हेरिटेज सिख धार्मिक स्थल गुरुद्वारा बंगला साहिब में गुरु नानक देव जी के 550वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में अपंगों, दिव्यांगों, विकलांगों, और बुजुर्ग श्रद्धालुओं के लिए विशेष सुविधाएं विकसित की जाएंगी ताकि वह मुख्य दरबार हॉल में आसानी से पहुंच कर अपनी प्रार्थना और अरदास कर सकें.

दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रवन्धक समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने ये जानकारी दी है.

उन्‍होंने कहा है कि समिति ने अपंगों, दिव्यांगों, विकलांगों और बुजुर्ग श्रद्धालुओं की श्रद्धा प्रार्थना की अपेक्षाओं एवं भावनाओं के मद्देनजर गुरद्वारा परिसर के ढांचे का नवीकरण, प्रबंधन, रखरखाव और रिपेयर करने का फैसला किया है.

Diwali 2019: दिवाली पर करें ये 10 टोटके, पूरे साल धन वर्षा करेंगी मां लक्ष्‍मी…

उन्होंने कहा कि दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबंधक समिति ने गुरु नानक देव जी के 550वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में ये फैसला किया है.

अपंगों, दिव्यांगों, विकलांगों को व्हील चेयर, बैटरी से चलने वाली गाड़ी, व्हील चेयर फ्रेंडली वाशरूम, पाथवे, रेलिंग आदि विशेष सुविधाएं अलग से विकसित की हैं, ताकि वह गुरद्वारा परिसर और दरबार हॉल में आसानी से पहुंच सकें.

गौरतलब है क‍ि इससे पहले गुरुद्वारा बंगला साहिब ने अपने परिसर में सभी प्रकार के प्लास्टिक के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया था.

दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमिटी (डीएसजीएमसी) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी के केंद्र में स्थित सिखों के इस पवित्र स्थान में डिस्पोजेबल प्लेटों, ग्लास, चम्मच, थर्मोकोल कप और प्लेट आदि पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. अब यहां लंगर (सामुदायिक भोजन) में आने वाले भक्तों को लंगर और साफ पेयजल स्टील की प्लेट और स्टील की कटोरी में दिया जाएगा.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.