नया साल 2019 तीन सूर्य ग्रहण और दो चंद्र ग्रहण समेत पांच खगोलीय घटनाओं का गवाह बनेगा. हालांकि, भारत में इनमें से केवल दो खगोलीय घटनाओं के ही दिखाई पड़ने की उम्मीद है.

Kumbh 2019: कुंभ में ये अखाड़े लगाते हैं आस्‍था की डुबकी, जानें इनका पूरा इतिहास

उज्जैन की प्रतिष्ठित शासकीय जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक डॉ. राजेंद्रप्रकाश गुप्त ने बृहस्पतिवार को बताया कि आगामी वर्ष में ग्रहणों की अद्भुत खगोलीय घटनाओं का सिलसिला छह जनवरी को लगने वाले आंशिक सूर्यग्रहण से शुरू होगा. गुप्त के मुताबिक नववर्ष का यह पहला ग्रहण भारत में दिखायी नहीं देगा.

गुप्त ने भारतीय सन्दर्भ में की गयी कालगणना के हवाले से बताया कि वर्ष 2019 में 21 जनवरी को पूर्ण चंद्रग्रहण लगेगा. हालांकि, सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा के एक सीध में आने के इस दिलचस्प वाक्‍ये को भी भारत में नहीं देखा जा सकेगा क्योंकि उस वक्त देश में दिन रहेगा और धूप खिली रहेगी.

Rashifal January-December 2019 Pisces: मीन राशि वालों के लिए कैसा रहेगा नया साल, रहना होगा संभलकर…

eclipse

तकरीबन दो सदी पुरानी वेधशाला के अधीक्षक ने बताया कि अगले साल दो और तीन जुलाई की दरम्यानी रात पूर्ण सूर्यग्रहण लगेगा. भारत में उस वक्त रात का समय रहने के चलते इसे नहीं देखा जा सकेगा.

Rashifal January-December 2019 Capricorn: मकर राशि के लिए उतार-चढ़ावों से भरा रहेगा नया साल, जानें क्‍या करें-क्‍या नहीं…

बहरहाल, भारतीय खगोलप्रेमी अगले वर्ष 16 और 17 जुलाई की दरम्यानी रात लगने वाले आंशिक चंद्रगहण को देख सकेंगे.

उन्होंने बताया कि 26 दिसंबर 2019 को लगने वाले वलयाकार सूर्यग्रहण का नजारा भारत में दिखायी देगा. इस खगोलीय घटना को देश के दक्षिणी हिस्सों में अपेक्षाकृत बेहतर तरीके से निहारा जा सकेगा जिनमें कन्नूर, कोझीकोड, मदुरै और त्रिशूर क्षेत्र शामिल हैं.

Health Rashifal January-December 2019: जानें 2019 में आप रहेंगे स्‍वस्‍थ या होंगे बीमार, उपाय भी पढ़ें

गौरतलब है कि वर्ष 2018 पांच रोमांचक ग्रहणों का गवाह रहा है. इस साल दो पूर्ण चंद्रग्रहण और तीन आंशिक सूर्यग्रहण लगे.
(एजेंसी से इनपुट)

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.