जुलाई में दो खगोलीय घटना होने वाली है. शुक्रवार 13 जुलाई यानी कल दुनिया के लोग जहां 2018 का दूसरा सूर्य ग्रहण देखेंगे वहीं 27 जुलाई को सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण लगेगा. इससे पहले इसी साल फरवरी में आंशिक सूर्य ग्रहण देखने को मिला था. अगर किसी वजह से आप जनवरी का सूर्य ग्रहण नहीं देख पाए तो आपके पास एक बार फिर जुलाई में सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण देखने का मौका है.Also Read - Surya Grahan 2021: भारत के इन दो शहरों में दिखेगा सूर्य ग्रहण, जानें टाइमिंग और इससे जुड़े सभी अपडेट्स

Also Read - June 2021 Vrat-Tyohar Full List: वट सावित्री व्रत, ज्येष्ठ पूर्णिमा, सूर्यग्रहण, गंगा दशहरा समेत ये हैं जून में आने वाले व्रत-त्योहारों की संपूर्ण लिस्ट

सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को बाहर नहीं निकलना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि सूर्य ग्रहण देखने वाली महिलाओं के शिशु विकलांग हो सकते हैं. इस दिन पत्तियां, लकड़ी आदि भी नहीं तोड़ते. इस दौरान दांत साफ करना, ताला खोलना, मल-मूत्र त्यागना भी वर्जित होता है. Also Read - 2021 में चार ग्रहण होंगे, पूरी तरह से ढँक जाएंगे चांद और सूरज, जानें डेट और समय

क्या होता है सूर्य ग्रहण?

सूर्य ग्रहण तब लगता है जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाता है और चंद्रमा पूरी तरह से या आंशिक रूप से सूर्य को ढक लेता है. तब चंद्रमा की छाया पृथ्वी पर पड़ती है.

सूर्य ग्रहण: तारीख और भारतीय कैसे देख सकते हैं ग्रहण

13 जुलाई को होने वाले सूर्य ग्रहण 2018 को पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया और अन्य पड़ोसी द्वीपों पर देख सकते हैं. हालांकि भारत में इसकी आंशिक झलक देखने को मिलेगी. हालांकि भारत में लोग NASA की LIVE web स्ट्रीम के जरिये भी सूर्य ग्रहण का नजारा देख सकते हैं.

Lunar Eclipse 2018: आ रहा है 21वीं सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, 4 राशियों वाले रहें बचकर

सूर्य ग्रहण 2018: भारत में समय

भारत में आंशिक सूर्य ग्रहण 13 जुलाई को लगेगा. यह सुबह 07:18 am पर लगेगा और इसे 08:13 am तक देखा जा सकेगा.

विशेषज्ञों के अनुसार सूर्य ग्रहण को खुली आंखों से देखना खतरनाक हो सकता है. सूर्य ग्रहण को नग्न आंखों से देखने से आंखों की रौशनी हमेशा के लिए जा सकती है. इसलिए इसे ऐसे ना देखें.

Solar Eclipse 2018: इन राशियों पर होगा सबसे ज्यादा असर, कैसे बचें

हालांकि भारत में आंशिक सूर्य ग्रहण दिखेगा, लेकिन इसका असर कुछ राशियों को जरूर प्रभावित करेगा. इसमें कर्क, मिथुन और सिंह शामिल हैं. इसके असर से बचने के लिए जातकों को शिव चालीसा का पाठ करना चाहिए और गरीब व जरूरतमंद को खाना बांटना चाहिए. खाने में तुलसी का पत्ता डाल दें.

सावन और धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.