Surya Grahan 2018: हिन्दू पंचांग के अनुसार सूर्य ग्रहण का बहुत महत्व है. ऐसी मान्यता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करने चाहिए और भगवान की पूजा भी नहीं की जाती है. ये धार्मिक मान्यता है. लेकिन वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी सूर्य ग्रहण एक महत्वपूर्ण और अनोखी खगोलीय घटना है, जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीध में आ जाते हैं.Also Read - Rashifal: इन 4 राशियों का शुरू हुआ अच्छा समय, बने तरक्की के प्रबल योग, पढ़ें अपना राशिफल

Also Read - Surya Grahan 2021: भारत के इन दो शहरों में दिखेगा सूर्य ग्रहण, जानें टाइमिंग और इससे जुड़े सभी अपडेट्स

साधारण भाषा में अगर समझें तो सूर्य ग्रहण तब लगता है जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाता है और चंद्रमा पूरी तरह से सूर्य को ढक लेता है. तब चंद्रमा की छाया पृथ्वी पर पड़ती है और इसे ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है. Also Read - June 2021 Vrat-Tyohar Full List: वट सावित्री व्रत, ज्येष्ठ पूर्णिमा, सूर्यग्रहण, गंगा दशहरा समेत ये हैं जून में आने वाले व्रत-त्योहारों की संपूर्ण लिस्ट

Surya Grahan 2018: जान‍िये भारत में सूर्य ग्रहण का समय, कहां और कैसे देख पाएंगे सूर्य ग्रहण

आंश‍िक सूर्यग्रहण क्‍या है 

आंश‍िक सूर्यग्रहण तब लगता है, जब चंद्रमा आंश‍िक रूप से सूर्य को ढक लेता है. इस दौरान पृथ्‍वी से सूर्य ब‍िल्‍कुल अर्धचंद्र के आकार का द‍िखता है.

भारत में इस बार सूर्यग्रहण का नजारा देखने को नहीं म‍िलेगा. इसे यूरोप, रूप और मध्‍य एश‍ियाई देशों में देखा जा सकेगा. नासा के अनुसार भारतीय इस खगोलीय घटना को ऑनलान लाइव देख सकते हैं. NASA सूर्यग्रहण की LIVE STREAMING करता है. भारत में रहने वाले लोग यूट्यूब के जर‍िये भी सूर्यग्रहण देख सकते हैं.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.