Surya Grahan 2021: ज्योतिषीय दृष्टि से सूर्य ग्रहण का प्रभाव समस्त संसार पर होता है. सभी 12 राशियों को इसके अच्छे-बुरे प्रभाव झेलने होते हैं. इस साल का पहला सूर्य ग्रहण 10 जून, गुरुवार को है. इसी दिन शनि जयंती और ज्येष्ठ अमावस्या भी है. ये सूर्य ग्रहण इसलिए खास है क्योंकि शनि जयंती पर ग्रहण का योग करीब 148 साल बाद बना है. इससे पहले शनि जयंती पर सूर्य ग्रहण 26 मई 1873 को हुआ था.Also Read - Surya Grahan 2021: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण आज, जानें कब, कहां और कैसे देख सकते हैं?

हालांकि भारत में यह ग्रहण आंशिक तौर पर नजर आएगा. लेकिन ज्योतिषाचार्यों का मत है कि इस समय में नियमों का पालन करना चाहिए. Also Read - एक ही दिन पड़ रहे हैं सूर्य ग्रहण और शनि अमावस्या, संकट से बचने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

सूर्य ग्रहण का समय
सूर्य ग्रहण- 10 जून, दिन गुरुवार
समय- दोपहर 1:42 बजे से शुरू. शाम 06:41 बजे पर समाप्त. Also Read - Surya Grahan 2021: इतने घंटे का होगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें इससे जुड़ी सभी जरूरी चीजें

सूर्य ग्रहण में क्या करें- क्या नहीं

  1. ग्रहण चाहे कोई भी हो, सूर्य या चंद्र, इस समय में भोजन करना वर्जित होता है.
  2. कोई भी नया काम आरंभ न करें. मांगलिक कार्य नहीं करने चाहिए.
  3. नाखून कांटना, कंघी करना वर्जित है.
  4. ग्रहण के समय सोना नहीं चाहिए.
  5. चाकू या धारदार चीजों का इस्तेमाल न करें.
  6. ग्रहण से पहले पके हुए भोजन में तुलसी पत्ता डालकर रख दें.
  7. ग्रहण के समय में इष्ट देव का पूजन करें. उनके मंत्रों का जप करें.
  8. ग्रहण के समय में घर के मंदिर के कपाट बंद कर दें.
  9. सूर्य ग्रहण में दान करना बेहद शुभ माना गया है.
  10. ग्रहण समाप्त होने के बाद घर की सफाई करें. घर में गंगाजल का छिड़काव करें.
  11. ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान करें.