Thursday Fast & Vinayak Chaturthi Vrat 2020: गुरुवार को भगवान विष्‍णु का दिन माना जाता है. इस दिन लोग व्रत रखते हैं. श्रीहरि की कृपा पाने हेतु पूजन करते हैं. Also Read - Banana Tree Importance: गुरुवार को क्यों करनी चाहिए केले के पेड़ की पूजा, जानें महत्व

इस बार गुरुवार यानी आज ही विनायक चतुर्थी भी है. इससे ये दिन बेहद शुभ हो गया है. इस दिन भगवान विष्‍णु और भगवान गणेश का पूजन करने से हर संकट से मुक्ति पाई जा सकती है. Also Read - Malmas 2020 Mantra: मलमास में करें भगवान विष्णु के इन मंत्रों का जाप, पूरी होगी हर मनोकामना

इसलिए आपको आज समय निकालकर इन दोनों देवताओं के मंत्रों का जप करना चाहिए. Also Read - Vinayak Chaturthi 2020: आज विनायक चतुर्थी, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व, इस तरह करें पूजा

Ganesha Jayanti 2020

भगवान गणेश मंत्र-

 

ऊँ वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ:।
निर्विघ्नं कुरू मे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा।।

बिगड़े काम सुधारने के लिए गणेश मंत्र

त्रयीमयायाखिलबुद्धिदात्रे बुद्धिप्रदीपाय सुराधिपाय।
नित्याय सत्याय च नित्यबुद्धि नित्यं निरीहाय नमोस्तु नित्यम्।।

गणेश गायत्री मंत्र

ऊँ एकदन्ताय विहे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात्।

गजानन एकाक्षर मंत्र

ऊँ गं गणपतये नमः।।

परेशानियों को दूर करने के लिए

गणपतिर्विघ्नराजो लम्बतुण्डो गजाननः।
द्वैमातुरश्च हेरम्ब एकदन्तो गणाधिपः॥
विनायकश्चारुकर्णः पशुपालो भवात्मजः।
द्वादशैतानि नामानि प्रातरुत्थाय यः पठेत्‌॥
विश्वं तस्य भवेद्वश्यं न च विघ्नं भवेत्‌ क्वचित्‌’’

ग्रह दोष से रक्षा के लिए मंत्र

णपूज्यो वक्रतुण्ड एकदंष्ट्री त्रियम्बक:।
नीलग्रीवो लम्बोदरो विकटो विघ्रराजक:।।
धूम्रवर्णों भालचन्द्रो दशमस्तु विनायक:।
गणपर्तिहस्तिमुखो द्वादशारे यजेद्गणम्।।

 

भगवान विष्‍णु के मंत्र-

ऊं नमोः नारायणाय. ऊं नमोः भगवते वासुदेवाय।

विष्णु गायत्री महामंत्र-
ऊं नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

विष्णु कृष्ण अवतार मंत्र-
श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

विष्णु रूपं पूजन मंत्र-
शांता कारम भुजङ्ग शयनम पद्म नाभं सुरेशम।
विश्वाधारं गगनसद्र्श्यं मेघवर्णम शुभांगम।
लक्ष्मी कान्तं कमल नयनम योगिभिर्ध्यान नग्म्य्म।
वन्दे विष्णुम भवभयहरं सर्व लोकेकनाथम।

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.