कोरोना काल में जो लोग माता वैष्णो देवी के दर्शन करने नहीं जा पा रहे हैं, अब उनके लिए खुशखबरी है दरअसल कोरोना के दोरान जनजीवन को बहाल करने की दिशा में प्रदेश प्रशासन ने कई सारे दिशा निर्देशों के साथ प्रदेश में कई सारी छूट दी है. नए दिशा निर्देशों के साथ शुक्रवार से बार और 15 से सिनेमाघर खोलने की अनुमति दे दी है, लोगों को प्रदेश में अब बिना पास यात्रा करने पर भी कोई रोक नहीं होगी. Also Read - Shardiya Navratri 2020: इस नवरात्रि त्योहार को बनाएं और भी खास, भारत के इन प्रसिद्ध मंदिरों में करें मां दुर्गा के दर्शन

कोरोना की वजह से पिछले 7 महीनों से माता वैष्णो देवी का दरबार बंद है, लेकिन अनलॉक 5 में और 17 अक्टूबर से शुरु हो रहे नवरात्र को देखते हुए रोजाना स्थानिय सात हजार यात्रियों को अब माता के दर्शन की अनुमति दे गई है. इससे पहले हजार लोगों को रोजाना दर्शन करने की इजाजत थी. यात्रा का ऑनलाइन पंजीकरण पहले की तरह जारी रहेगा. बाहर से आने वाले यात्रियों की संख्या व घोड़ा, पालकी सेवा शुरू करने का फैसला श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीइओ हालात की समीक्षा करने के बाद करेंगे. Also Read - Unlock 5.0: इस दिन से भक्त जा सकेंगे वृंदावन में बांके बिहारी के दर्शन के लिए, इन नियमों का करना होगा पालन

मिल रही है सारी सुविधाएं
अगर आप माता के दर्शन के लिए आ रहे हैं तो ऐसे में आपको इस दौरान हर तरह के आदेशों का पालन करना है. कोरोना के बावजूद वहां पहुंच रहे हर यात्री को हेलीकॉप्टरबैटरी कार सेवा और बाकि सुविधाएं मिल रही हैं. Also Read - Lockdown During Unlock 5.0 : इन इलाकों में 31 अक्टूबर तक सख्ती के साथ जारी रहेगा लॉकडाउन

कब से शुरू होगी नवरात्रि
हिन्दू पंचांग के अनुसार, आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवरात्र पर्व शुरू होता है जो नवमी तिथि तक चलते हैं.

पंचमी- 21 अक्टूबर
षष्ठी- 22 अक्टूबर
सप्तमी- 23 अक्टूबर
अष्टमी- 24 अक्टूबर
नवमी- 25 अक्टूबर
विजय दशमी- 26 अक्टूबर