Vikat Sankashti Chaturthi 2021 Upay: 30 अप्रैल शुक्रवार को विकट संकष्टी चतुर्थी है. विकट संकष्टी चतुर्थी के दिन विघ्नहर्ता और सुख करता गणेश महाराज की पूजा की जाती है. हिंदु मान्यताओं के अनुसार संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश जी की आराधना करने से जातकों के सभी प्रकार के दुख मिट जाते हैं और घर में सुख का संचार होता है. इस दिन गणेश जी की पूजा करने से घर धन्य की कमी नहीं रहती. हम आपकों बतातें है कि भगवान गणेश को संकष्टी चतुर्थी के दिन कैसे प्रसन्न कर सकतें है.Also Read - करोड़ों लोगों के बीच क्यों कोई आता है हमें पसंद??? क्यों करते हैं बात?? किसी का मिलना मात्र संयोग नहीं होता..पीछे होती है ये वजह

गणेश जी को चढ़ाए दूर्वा
संकष्टी चतुर्थी के दिन विघ्नहर्ता गणेश महाराज को दूर्वा (घास) अर्पित करना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि गणेश जी दूर्वा बहुत पसंद है. गणेश जी को दूर्वा चढ़ाने से आपकी सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं. जब आप दुर्वा अर्पित कर रहे हो तो यह मंत्र बोलें ‘इदं दुर्वादलं ॐ गं गणपतये नमः’. Also Read - Vastu Tips: घर में चाहिए सुख-शांति, तो रसोई में भूलकर भी न रखें ये चीजें, नहीं तो होंगे लड़ाई-झगड़े

गणेश जी के सामने जलाएं दीपक
संकष्टी चतुर्थी के दिन से भगवान गणेश की पूजा करें और गणेश जी के सामने दीपक जलाएं. ध्यान रखें दीपक घी का जलाएं. ऐसा करने वाले की सभी मनोकामना पूर्ण होती है. साथ ही साबूत हल्दी की गांठ गणपति महाराज को भी चढ़ाएं जिससे जीवन की सभी परेशानियां का नाश होगा. Also Read - Parshuram Jayanti 2021 Date: कब मनाई जाएगी परशुराम जयंती, जानें महत्व, पूजन विधि, शुभ मुहूर्त

गणपति को चढ़ाए मोदक
मोदक (लड्डू) गणेश जी को बेहद ही पसंद हैं. इसलिए संकष्टी चतुर्थी के दिन से भगवान गणेश को मोदक जरूर चढ़ाना चाहिए. ऐसा करने से आपके जीवन में सुख-समृद्धि आती है.

शमी के पत्ते गणेश जी को चढ़ाए
हिंदु मान्यताओं के अनुसार शमी ही एक मात्रा पौधा है जिसकी पूजा से गणेश जी प्रसन्न होते हैं इसलिए पूता करते वक्त गणेश जी को शमी के पत्ते अर्पित करें. इससे घर में आपकें सुख में बढ़ोत्तरी होगी.

गणपति महाराज को चढ़ाएं अक्षत

गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए उन्हें अक्षत (पवित्र चावल) चढ़ाना चाहिए पर इस बात का ध्यान रखें की सूखा चावल गणेश जी को बिलकुल ना चढ़ाएं. चावल को थोड़ा गीला करें और, ‘इदं अक्षतम् ॐ गं गणपतये नमः’ मंत्र तीन बार बोलते हुए गणेश जी को चावल चढ़ाएं.

गणपति महाराज को चढ़ाएं लाल सिंदूर

सिंदूर की लाली गणेश जी को बहुत पसंद है इसलिए गणेश जी को सिंदूर का तिलक जरुर लगाएं. इससे आपकों गणेश जी की कृपा प्राप्त होगी. गणेश जी को सिंदूर चढ़ाते समय यह मंत्र बोलें, ‘सिन्दूरं शोभनं रक्तं सौभाग्यं सुखवर्धनम्। शुभदं कामदं चैव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम्॥ ॐ गं गणपतये नमः’ के मंत्र का जाप करें.