Vinayaka Chaturthi 2019: विनायक चतुर्थी पर भगवान गणेश की पूजा-अर्चना की जाती है. इस दिन विध-विधान से पूजन करने से भगवान प्रसन्‍न होते हैं और मनचाहा वरदान देते हैं.Also Read - Vinayaka Chaturthi 2021 Upay: विनायक चतुर्थी के दिन करें ये अचूक उपाय, घर में आएगी सुख-समृद्धि

Also Read - Ekadanta Sankashti Chaturthi 2021 Date: कब है एकदंत संकष्टी चतुर्थी? बन रहा है शुभ योग, जानें समय और पूजन विधि

Vinayaka Chaturthi 2019 Date Also Read - भगवान गणेश द्वारा लिखे गए महाभारत के अध्याय आज भी यहां रखे हैं, आप भी कर सकते हैं दर्शन...

विनायक चतुर्थी 2 अक्‍टूबर, बुधवार को है.

Happy Shardiya Navratri 2019: हिंदी में भेजें ये WhatsApp Messages, Greetings और दें नवरात्रि की शुभकामनाएं…

महत्‍व

विनायक चतुर्थी को वरद विनायक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है. भगवान से अपनी किसी भी मनोकामना की पूर्ति के आशीर्वाद को वरद कहते हैं. जो लोग विनायक चतुर्थी का उपवास करते हैं, भगवान गणेश उसे ज्ञान और धैर्य का आशीर्वाद देते हैं.

कैसे करें पूजन

– सुबह जल्‍दी उठें. स्नान आदि करके लाल रंग के वस्त्र धारण करें और सूर्य भगवान को तांबे के लोटे से अर्घ्य दें.

– भगवान गणेश के मंदिर में जटा वाला नारियल और मोदक प्रसाद के रूप में लेकर जाएं.

Shardiya Navratri 2019: कलश स्‍थापना से जुड़े इन 7 नियमों का पालन जरूरी…

– गुलाब के फूल और दूर्वा अर्पण करें. ॐ गं गणपतये नमः मन्त्र का 27 बार जाप करें तथा धूप दीप अर्पण करें.

– दोपहर पूजन के समय अपने घर मे अपनी सामर्थ्य के अनुसार पीतल, तांबा, मिट्टी अथवा सोने या चांदी से निर्मित गणेश प्रतिमा स्थापित करें. संकल्प के बाद पूजन कर श्री गणेश की आरती करें तथा मोदक बच्चों के बाट दें.

शुभ मुहूर्त

विनायक चतुर्थी पर भगवान गणेश का पूजन दोपहर के समय किया जाता है. 2 अक्‍टूबर को दोपहर 11:24 बजे से 1:52 बजे तक का पूजन मुहूर्त है.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.