Vinayaka Chaturthi: हिंदू धर्म में चतुर्थी तिथि को भगवान गणेश की तिथि माना गया है. इस दिन गणपति पूजन और व्रत रखने से विघ्नहर्ता सभी कष्ट दूर कर देते हैं. Also Read - Vinayak Chaturthi Vrat 2020: कब है विनायक चतुर्थी, शुभ मुहूर्त, व्रत कथा, पूजन विधि

विनायक चतुर्थी
शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी कहा जाता है. इस तिथि पर लोग भगवान गणेश का पूजन करते हैं. इस माह विनायक चतुर्थी 18 नवंबर 2020, बुधवार को है. इसे वरद विनायक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है. Also Read - Vinayaka Chaturthi 2019 October: विनायक चतुर्थी पर ऐसे दें शुभकामनाएं, भेजें ये Messages

विनायक चतुर्थी का महत्व
चतुर्थी तिथि भगवान गणेश को अत्यंत प्रिय है. इसलिए चतुर्थी को भगवान गणेश सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण करते हैं. ज्ञान और धैर्य का आशीर्वाद देते हैं. Also Read - Vinayaka Chaturthi 2019 October: धन प्राप्ति-संकट नाश के लिए विनायक चतुर्थी पर ऐसे करें गणेश पूजन...

पूजन विधि
गणेश पूजा दोपहर को मध्याह्न काल के दौरान की जाती है. भगवान गणेश के पूजन से विघ्न दूर होते हैं. व्‍यापार में बढ़ोत्‍तरी होती है. पूजा के बाद दान किया जाता है.

इस दिन ब्रह्म मूहर्त में उठकर स्नान करें. व्रत का संकल्प लें. दोपहर में भगवान गणेश का पूजन करें. उन्हें दूर्वा अर्पित करें. पूजन कर श्री गणेश की आरती करें. ॐ गं गणपतयै नम: का एक माला जप करें. श्री गणेश को बूंदी के 21 लड्डुओं का भोग लगाएं. इसके बाद प्रसाद स्वरूप इन्हें बांट दें.

पूजन का शुभ मुहूर्त
कार्तिक, शुक्ल चतुर्थी
प्रारम्भ – 01:17 एएम, 18 नवंबर
समाप्त – 11:16 पीएम, 18 नवंबर
पूजन मुहूर्त- 18 नवंबर, 11:02 एएम से 01:10 पीएम