Vrat Tyohar In JUNE 2020: जून का महीना शुरू हो चुका है. इस महीने में गंगा दशहरा, निर्जला एकादशी, चंद्र ग्रहण समेत कई प्रमुख व्रत-त्योहार आएंगे. इसी माह में सूर्य ग्रहण भी है. 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस भी मनाया जाएगा. इन व्रत-त्‍योहारों की पूरी लिस्‍ट हम यहां दे रहे हैं. इसे आप अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं.Also Read - Viral Video: ITBP अफसर ने योग दिवस पर 18000 फीट की ऊंचाई पर माइनस टेम्‍परेचर में खुले बदन किया सूर्य नमस्‍कार

1 जून, सोमवार- ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की उदया तिथि दशमी को गंगा दशहरा का पर्व मनाया जाता है. Also Read - International Yoga Day 2021: पीएम मोदी ने लॉन्च किया M-Yoga ऐप, जानें क्या है इसमें खास!

2 जून, मंगलवार- ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की उदया तिथि एकादशी और मंगलवार का दिन है. ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी व्रत करने का विधान है. Also Read - International Yoga Day 2021 Live: योगमय देश-दुनिया, ऐसे मनाया जा रहा 7वां योग डे

5 जून, शुक्रवार- वटसावित्री का व्रत कुछ हिस्सो में ज्येष्ठ अमावस्या को मनाया जाता है तो वहीं कुछ हिस्सों में पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है. इसके अलावा इस दिन चंद्र ग्रहण के साथ कबीर जयंती भी है.

13 जून, शनिवार- कालाष्टमी को काला अष्टमी के नाम से भी जाना जाता है और हर माह कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दौरान इसे मनाया जाता है.

17 जून- योगिनी एकादशी- आषाण मास के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को योगिनी एकादशी के नाम से जाना जाता है.

19 जून- मासिक शिवरात्रि- हर माह कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि का व्रत रखा जाता है. इस दिन विधि-विधान के साथ भगवान शिव की पूजा अर्चना की जाती है.

20 जून, शनिवार- इस दिन दर्श अमावस्या, अन्वाधान, रोहिणी व्रत मनाया जाएगा.

21 जून- सूर्य ग्रहण- यह साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण होगा. जो भारत में भी दिखाई देगा. इसके अलावा इस दिन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस भी मनाया जाएगा. इस दिन पिता दिवस भी मनाया जाएगा.

22 जून-गुप्त नवरात्र- आषाढ़ मास में गुप्त नवरात्रि आती है. जिसमें मां दुर्गा की विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है. खासतौर में यह नवरात्रि तंत्र विद्या के लिए महत्वपूर्ण मानी जाती है.

23 जून- जगन्नाथ यात्रा- हर साल आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि के दिन उड़िसा राज्य के पुरी में भगवान जगन्नाथ की भव्य यात्रा निकाली जाती है. जहां पर देश-विदेश से लाखों ऋद्धालु एकत्र होते हैं.