अक्‍सर हमारे आसपास के लोग ये कहते हैं कि नजर लग गई, नजर लगने से बच्‍चा बीमार है, नजर लगने से काम ठप्‍प हो गया है…पर आखिर ये नजर है क्‍या? कैसे लगती है? और क्‍या वाकई बुरी नजर उतारी जाती है? जानें हर सवाल का जवाब.

भगवान‍ विष्‍णु को कैसे मिला था सुदर्शन चक्र? ये कथा जानते हैं आप?

क्‍या है बुरी नजर?
हमारे आसपास कई तरह की ऊजाएं होती हैं. इनमें से कुछ सकारात्‍मक होती हैं कुछ नकारात्‍मक, कुछ उदासीन. ये ऊर्जा हमारे व्‍यवहार, सोच, क्रियाओं से आती हैं. इन्‍हें Vibrations भी कहा जाता है.

ऐसे ही ऊर्जाओं में से जब नकारात्‍मक ऊर्जा किसी पर हावी होती है तो उसे सामान्‍य भाषा में ‘नजर’ लग जाना कहते हैं.

नजर लगे तो क्‍या होता है?
ये मान्‍यता है कि नजर लगने से स्वास्थ्य, सोच और प्रगति पर रुकावट आ जाती है. जिस तरह की ऊर्जा से हम प्रभावित हुए होते हैं, उसी तरह का व्‍यवहार करने लगते हैं.

क्‍या है उपाय
लाल किताब में नजर से बचाने के कई उपाय बताए गए हैं. ये उपाय हमारे समाज में काफी प्रचलित हैं. जानें इनके बारे में.

शुक्रवार शाम मां लक्ष्मी की इस विधि से पूजा करें, होगी धन वर्षा

– घर को नजर से बचाने के लिए रोज सफाई करें. पूजास्‍थान अवश्‍य हो. उसमें दीपक जलाएं. घर के बाहर स्वस्तिक लगाएं.

– नौकरी को नजर से बचाने के लिए लोहे का छल्ला बाएं हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण करें.

– कारोबार के लिए ऑफिस में लाल रंग के हनुमान जी की स्थापना करें. रोज उनकी पूजा करें.

– अगर किसी व्‍यक्ति को नजर लग जाए तो बाल काट लें. लाल मिर्च के एकाध बीज चबा लें. चन्दन की सुगंध का प्रयोग करें.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.