अहमदाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात चुनाव में पहले चरण की वोटिंग शुरू होने से कुछ ही घंटे पहले अहमदाबाद के निकोल में एक चुनावी रैली को संबोधित किया. निकोल में दूसरे चरण में वोटिंग होगी. पीएम मोदी ने यहां अपने भाषण में कांग्रेस नेताओं द्वारा खुद पर किए गए एक एक हमले का जवाब दिया. मणिशंकर अय्यर, दिग्विजय सिंह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी समेत पार्टी के लगभग हर नेता के बयान को, जिसमें मोदी पर अर्मयादित टिप्पणी की गई थी, मोदी याद करना नहीं भूले. 

गुजरातः पहली बार वोट डालने जा रहे मतदाताओं के जहन में हैं जाति, नौकरियां और मोदी

गुजरातः पहली बार वोट डालने जा रहे मतदाताओं के जहन में हैं जाति, नौकरियां और मोदी

निकोल की रैली में मोदी ने कहा कि सौराष्ट्र, कच्छ, दक्षिण गुजरात और उत्तर गुजरात का दौरा करने के बाद अब मैं अहमदाबाद में हूं. मैं जो देख रहा हूं वह अद्भुत है. यह साफ हो चुका है कि बीजेपी जीतकर आ रही है. मोदी ने अमरनाथ हमले का जिक्र करते हुए कहा कि हाल में हुए इस हमले के बाद हमने सुनिश्चित किया कि इसके पीछे जो भी लोग थे, उन्हें सशस्त्र सेनाओं द्वारा सजा मिले. बता दें कि अमरनाथ यात्रियों पर हमले के पीछे जिन 3 आतंकियों का हाथ था, सेना उन्हें मौत की नींद सुला चुकी है.

मोदी ने आगे कांग्रेस नेताओं के नाम लेने शुरू किए. मोदी ने कहा कि उन्होंने पहली बार मुझे ‘नीच’ नहीं कहा है. श्रीमती सोनिया गांधी और उनका परिवार भी ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करता रहा है. आखिर मैं ‘नीच’ हूं क्यों? क्योंकि मैं गरीब परिवार में पैदा हुआ, क्योंकि मैं निचली जाति से आता हूं, क्योंकि मैं गुजराती हूं? क्या यही वजह है जो वह मुझसे नफरत करते हैं? 

गुजरातः प्रोटोकॉल तोड़कर मिले मनमोहन, बुजुर्ग ने थमा दी घोटालों की लिस्ट

गुजरातः प्रोटोकॉल तोड़कर मिले मनमोहन, बुजुर्ग ने थमा दी घोटालों की लिस्ट

मोदी ने कहा, आनंद शर्मा ने मेरे बारे में क्या कहा था? पीएम मोदी दिमागी रूप से अस्थिर हैं. एक कांग्रेसी नेता ने मुझपर ऐसे ट्वीट को रीट्वीट किया जिसे मैं शेयर भी नहीं कर सकता हूं. दिग्विजय सिंह ने मुझपर क्या ट्वीट किया था? निसंदेह, एक गुजराती, जो गरीब परिवार में पैदा हुआ है, उसे कई मुश्किलों से गुजरना पड़ा है.

उन्होंने कहा, ‘दिग्विजय सिंह ने कहा था कि मोदी सरकार किसी राक्षस राज की तरह है और मोदी रावण जैसे.’ प्रमोद तिवारी, जो यूपी में कांग्रेस का नेतृत्व कर चुके हैं, उन्होंने कहा था कि मोदी हिटलर, मुसोलिनी और गद्दाफी की लिस्ट में हैं. दिन और रात में, हर वक्त कांग्रेस पार्टी ने मेरा अपमान किया है. मैं चुप सिर्फ इसलिए रहा क्योंकि काम मेरी प्राथमिकता है. 

मोदी ने पूछा, 'क्या अय्यर मेरी सुपारी देने पाकिस्तान गए थे?' सिब्बल को भी लपेटा

मोदी ने पूछा, 'क्या अय्यर मेरी सुपारी देने पाकिस्तान गए थे?' सिब्बल को भी लपेटा

मोदी यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि एक और कांग्रेसी नेता ने मुझे बंदर कहा. जयराम रमेश ने मेरी तुलना भस्मासुर से की. बेनी प्रसाद वर्मा ने मुझे पागल कुत्ता कहा. उन्होंने ये भी कहा था कि वह इस पागल कुत्ते को जीतने नहीं देंगे. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मैं गंगू तेली हूं. क्या ये वो चीजें हैं जिन्हें हमें सार्वजनिक जीवन में कहनी चाहिए?

मोदी ने 2014 लोकसभा चुनाव में सहारनपुर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार इमरान मसूद का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि उन्होंने मसूद को भी टिकट दिया था, उसने कहा था कि वह मोदी को टुकड़ों में काट डालेगा. रेणुका चौधरी ने मुझे वायरस कहा था. उन्होंने कहा था कि वह नमोनाइटिस लेकर आएंगी. मैं यह कहना भी नहीं चाहता कि गुजरात कांग्रेस के नेताओं ने मुझे क्या क्या कहा है.