Gujrat News: अपनी डिजाइन को लेकर प्रदेश भर में प्रसिद्ध व सूरत के खजोद ड्रीमसिटी प्रोजेक्ट के तहत, तकरीबन 2600 करोड़ रुपए की लागत से बन रहे डायमंड बोर्स का काम अब पूरा होने को है. इसके प्रस्तावित 11 में से 9 टावर बनकर तैयार हो चुके हैं. वहीं आगामी सितंबर में डायमंड  के कार्यरत होने की संभावना है.Also Read - Video: मां हीराबेन के 100वें जन्मदिन को पीएम मोदी ने बनाया स्पेशल, माता के धोए पैर, मुंह कराया मीठा

इस प्रोजेक्ट के बारे में, सूरत डायमंड बोर्स के मथुर सवाणी ने बताया कि,आगे आने वाले दिनों में पहली बार सूरत से रफ डायमंड की ट्रेडिंग की जाएगी. वहीं जीजेईपीसी के रीजनल चेयरमैन और चैंबर प्रमुख दिनेश नावडिया ने जानकारी देते हुए कहा कि, इस बोर्स में चार हज़ार से ज्यादा ऑफिस स्थापित होंगे. Also Read - पीएम मोदी आज करेंगे गुजरात का दौरा, करोड़ों रुपये की कई विकास योजनाओं का करेंगे उद्घाटन व शिलान्यास

वहीं पहली बार ऐसा होगा कि शहर में एक ही जगह से पॉलिश्ड और रफ डायमंड की ट्रेडिंग की व्यवस्था होगी. साथ ही साथ डायट्रेड सेंटर के साथ रफ डायमंड की ट्रेडिंग भी हो सकेगी. उन्होंने कहा कि, डायमंड बुर्स के तैयार होने के बाद करीबन 1 से 1.5 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा. इसके साथ ही डायमंड इंडस्ट्री के कारोबारियों को तकरीबन 2 से 2.5 लाख करोड़ की वार्षिक आय होने का अनुमान है. ऑफिस धारकों को 3 महीने में फर्निचर के काम के लिए कार्यालय आवंटित कर दिया जाएगा. Also Read - 300 फीट गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा, सेना ने 40 मिनट बाद बच्चे को सुरक्षित बाहर निकाला | Watch video

क्या है डिजाइन में ख़ास

अपनी डिजाइन को लेकर भी डायमंड बोर्स चर्चा में बना हुआ है. इसका डिजाइन कुछ तरह से तैयार किया गया है कि, बिल्डिंग के किसी भी गेट से एंट्री लेने वाला कोई भी व्यक्ति मात्र 5 मिनट में एंट्री गेट से अपने ऑफिस तक पहुंच सकेंगा. साथ ही साथ बुर्स में सोलर पैनल, ट्रीटेड वाटर प्लांट, बिजली की समस्या न हो इसका भी ध्यान रखा गया है.

बिल्डिंग में निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए बसबार लगाए गए हैं. राज्य में यह ऐसी दूसरी जगह है जहां ये सुविधा उपलब्ध होगी. डायमंड बोर्स के फ्लोर को नुकसान न होने पाए इसके लिए 16 एमएम टाइल्स के साथ डेस्टिनेशनल कंट्रोल लिफ्ट की सुविधा दी गई है. वहीं, बोर्स का आंतरिक तापमान 5 डिग्री से कम रहे इसके लिए सबसे लंबी रेडियंट कुलंट लाइन भी मौजूद होगी.