कोरोना महामारी के बीच देश पर बर्ड फ्लू का खतरा मंडरा रहा है. राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल और झारखंड के बाद अब गुजरात में भी बर्ड फ्लू की आशंका बढ़ गई है. बता दें, गुजरात के जूनागढ़ जिले के बांटवा गांव में 2 जनवरी को बतख-टिटहरी-बगुला सहित कई 53 मृत पाए गए. बर्ड फ्लू की आशंका के चलते इनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. वहीं, इस मामले में रेंज फॉरेस्ट ऑफिसर ने रोग प्रकोप के चलते इन पक्षियों की मृत्यु होने की आशंका व्यक्त की है. Also Read - बर्ड फ्लू के सैंपल निगेटिव आते ही दिल्ली नगर निगमों ने पोल्ट्री फॉर्म किए ओपेन, मांस की बिक्री भी शुरू

वहीं, गुजरात के प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) श्यामल टीकादार ने बताया कि बर्ड फ्लू की आंशका से हमने अलर्ट घोषित किया है. रेंज वन अधिकारी ए.ए. चावडा ने बताया कि- 53 पक्षी मृत मिले हैं लेकिन इनकी मौत की वजह स्पष्ट नहीं है. कारण जानने के लिए पशुचिकित्सा विभाग पीएम सहित कार्रवाई कर रही है. Also Read - Bird Flu: बर्ड फ्लू निरीक्षण के लिए क्या शिक्षकों की लगेगी ड्यूटी, शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया कही ये बात

बता दें, सबसे पहले राजस्थान के पांच जिलों में 60 से ज्यादा कौए मरे हुए पाए गए थे. हिमाचल में पिछले एक हफ्ते में पोंग डैम अभ्यारण्य में 1000 से ज्यादा प्रवासी में पक्षी मरे हुए पाए गए हैं? केंद्र ने पहले ही पक्षियों के मरने के संबंध में अलर्ट जारी कर रखा है. जापान में भी इस नवंबर से ही बर्ड फ्लू फैला हुआ है. Also Read - Bird Flu in Delhi: दिल्ली के गाजीपुर मुर्गा मंडी में बर्ड फ्लू नहीं, सभी नमूनों के रिपोर्ट निगेटिव