Gujarat Lockdown Latest Update: भारत में कोरोना की दूसरी लहर जारी है. देश में बीते कई दिनों से रोजाना 3 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. कोरोना के कहर को कम करने के लिए देश के कई राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) जैसी पाबंदियां लागू हैं. उधर, गुजरात भी कोरोना से बेहाल है. कोरोना के कहर को कम करने के लिए गुजरात में नाइट कर्फ्यू जैसे कई कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं, हालांकि रोजाना दर्ज होने वाले केस में कमी नहीं आई है. गुजरात में रविवार को कोविड-19 के 14,296 नए मामले आए जो महामारी शुरू होने से अब तक एक दिन में संक्रमित हुए लोगों की सर्वाधिक संख्या है. कोरोना के तेजी से बढ़ते मामले को देखते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की प्रदेश इकाई ने लॉकडाउन (Lockdown) का सुझाव दिया है.Also Read - इजराइल में घूमिये ये 10 खूबसूरत जगहें, टूरिस्टों को अब नहीं कराना होगा RT-PCR टेस्ट

IMA की प्रदेश इकाई ने गुजरात हाईकोर्ट में सुझाव दिया कि राज्य सरकार को कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए कम से कम दो सप्ताह का लॉकडाउन (Lockdown In Gujarat) लगाना चाहिए. IMA के प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र पटेल ने हाल ही में हाईकोर्ट में कहा कि अगर राज्य सरकार लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है तो उसे लोगों को उनके घरों तक सीमित कर देने के लिए गतिविधियों पर पाबंदी लगाने पर सोचना चाहिए. उन्होंने मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ एवं न्यायमूर्ति भार्गव करिया की खंडपीठ के सामने एक जनहित याचिका की ऑनलाइन सुनवाई के दौरान ये सुझाव दिये. खंडपीठ ने पटेल को डॉक्टरों की ओर से राय देने के लिए बुलाया था. Also Read - भारत में Omicron के सब वेरिएंट BA.5 के एक और मरीज की पुष्टि, दक्षिण अफ्रीका से वडोदरा आया था शख्स

पटेल ने इस दौरान कहा कि सरकार को सभी तरह के जमावड़े, चाहे वह सामाजिक हो या राजनीतिक या धार्मिक, पर पूर्ण रोक लगा देना चाहिए. यदि संभव हो तो सरकार को 14 दिनों का पूर्ण लॉकडाउन लगाना चाहिए. अगर ऐसा संभव नहीं हो तो उसे गतिविधियों पर गंभीर पाबंदिया लगानी चाहिए.’ मामले पर अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी. यानी कल यह तय हो जाएगा कि गुजरात में लॉकडाउन लगेगा या नहीं. Also Read - सऊदी अरब में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, भारत समेत इन देशों में यात्रा करने पर लगा प्रतिबंध

उधर, हाल ही में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा था कि राज्य में फिलहाल लॉकडाउन लगाने की जरूरत नहीं है. रूपाणी ने हालांकि लॉकडाउन के संकेत जरूर दिये. उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर हम लॉकडाउन लगाने के बारे में विचार करेंगे. राज्य के 20 शहरों में रात का कर्फ्यू है. उन्होंने कहा, ‘हमने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं. हमने स्कूल ,कॉलेज, मॉल, सिनेमाघर बंद किए हैं और प्रमुख शहरों में बस सेवा भी बंद की है. मैं लोगों से स्थिति में सुधार आए बिना घरों से नहीं निकलने की अपील करूंगा.’

उधर, 14,296 नए मरीजों के साथ गुजरात में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 4,96,033 हो गया. गुजरात में बीते 24 घंटे में 157 लोगों की मौत हुई है जो एक दिन में होने वाली मौतों के मामले में सर्वाधिक है. इसके साथ ही राज्य में महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 6,328 हो गई है. रविवार को 6,727 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई. गुजरात में अब तक 3,74,699 मरीज ठीक हो चुके हैं. वहीं, 1,15,006 मरीज उपचाराधीन हैं. राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर 75.54 प्रतिशत है.

(इनपुट: एजेंसी)