Asiatic lions News: गुजरात के सक्करबाग चिड़ियाघर के कम से कम 40 एशियाई शेर देशभर के चिड़ियाघरों को अन्य जंगली जानवरों के बदले दिये जायेंगे और इन अन्य जानवरों को नर्मदा जिले में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ के पास हाल में खुले केवड़िया जंगल सफारी में रखा जाएगा. एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. जूनागढ़ वन्यजीव मंडल के मुख्य वन संरक्षक डी टी वासवदा ने बताया कि जूनागढ़ शहर के बाहरी इलाके में स्थित सक्करबाग चिड़ियाघर में अप्रैल, 2020- जुलाई 2021 के बीच रिकॉर्ड 46 शेर शावकों का जन्म हुआ है.Also Read - PM मोदी ने गुजरात के अंबाजी मंदिर में प्रार्थना की, जानें क्यों मशहूर है तीर्थ स्थल

वासवदा ने कहा, ‘‘सक्करबाग चिड़ियाघर को केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) द्वारा एशियाई शेरों और छह अन्य प्रजातियों के बंदी प्रजनन के लिए अधिकृत किया गया है. अप्रैल 2020 से इस साल जुलाई तक चिड़ियाघर में 46 शेर शावक पैदा हुए थे.’’ चिड़ियाघर के रेंज वन अधिकारी नीरव मकवाना ने कहा कि अब, पशु विनिमय कार्यक्रम के तहत, इस चिड़ियाघर के 40 एशियाई शेर देशभर के चिड़ियाघरों को विभिन्न जंगली जानवरों के बदले दिये जायेंगे. Also Read - PM Modi Gujarat Visit: पीएम मोदी ने एम्बुलेंस को रास्ता देने के लिए रुकवाया काफिला, देखें VIDEO

मकवाना ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पिछले पांच वर्षों में, शेरों की जन्म दर में काफी वृद्धि हुई है. चूंकि केवड़िया में नए खुले चिड़ियाघर को और अधिक जंगली प्रजातियों की आवश्यकता है, इसलिए हमने सीजेडए के विनिमय के तहत विभिन्न जंगली प्रजातियों को प्राप्त करने के लिए अपने 40 शेरों को अन्य चिड़ियाघरों को देने का निर्णय लिया है.’’ Also Read - तस्वीरों में देखिए पीएम मोदी ने किस तरह मेट्रो और वंदे भारत में किया सफर

उन्होंने कहा कि बदले में गुजरात को मिलने वाले जानवरों की सूची को अभी अंतिम रूप दिया जा रहा है, क्योंकि प्रक्रिया अभी शुरू हुई है.

अधिकारी ने कहा कि अब तक लगभग 80 शेरों को लंदन, ज्यूरिख और प्राग सहित विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय चिड़ियाघरों में भेजा जा चुका है. उन्होंने कहा कि देश के 21 राज्यों में स्थित चिड़ियाघरों को दरियाई घोड़े और बायसन जैसे दुर्लभ जानवरों के बदले में सक्करबाग से एशियाई शेर मिले हैं.

(इनपुट भाषा)