गुड़गांव. पुलिस अधीक्षक (एसपी) की हत्या करने की मंशा से बुधवार तड़के एक दर्जन से ज्यादा हथियारबंद अपराधी गुड़गांव की भोंडसी जेल में जबरन घुस गए. पुलिस ने बताया कि एसपी की ओर से इलाके में आपराधिक गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए की गई कार्रवाई से बौखलाकर अपराधियों ने यह कदम उठाया. Also Read - शिवपाल सिंह का बड़ा ऐलान, बोले- भाजपा से नहीं, सपा के साथ करेंगे गठबंधन

यह वारदात रात करीब ढाई बजे हुई जब एक महिला सहित अन्य आरोपी तीन गाड़ियों में आए और एसपी (जेल) जय किशन छिल्लर से तुरंत मिलने के बहाने से जेल के अंदरूनी परिसर में दाखिल होने की कोशिश की. Also Read - UP:समाजवादी पार्टी ने विधानपरिषद चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की घोषणा की, जारी की लिस्‍ट

सीआरपीएफ के एक जवान ने उन्हें सलाह दी कि वह फोन पर एसपी से बात कर लें, लेकिन आरोपियों ने कहा कि वे अपने मोबाइल फोन लाना भूल गए हैं. उनके बर्ताव को शक की निगाह से देखते हुए वॉर्डन ने उनसे कहा कि छिल्लर सो रहे हैं और वे अगले दिन मिलने के लिए आएं. इस पर आरोपियों ने जेल में घुसने के लिए रिश्वत की पेशकश की. जब इजाजत नहीं दी गई तो उन्होंने अपनी पिस्तौलें निकाल ली और उन्हें बैरीकेड हटाने को मजबूर कर दिया. Also Read - चित्रकूट पहुंचे सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कामदगिरि की परिक्रमा की, बोले- भगवान से प्रार्थना सरकार जाए

बहरहाल, जेल वॉर्डन ने तुरंत इंटरकॉम के जरिए अन्य सुरक्षा अधिकारियों को चौकस कर दिया, जिसकी वजह से अपराधी अपनी एसयूवी में मौके से फरार हो गए. एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी.

ऐसी घुसपैठ की वजह के बारे में पूछे जाने पर गुड़गांव पुलिस के पीआरओ रविंदर कुमार ने बताया कि छिल्लर ने जेल का प्रभार संभालने के बाद से कई अवैध गतिविधियों पर लगाम लगाने में कामयाबी पाई है, जिसके बाद कई अपराधियों ने उन्हें गंभीर नतीजे भुगतने की धमकी दी. अधिकारी ने बताया कि अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपियों की पहचान करने की कोशिश जारी है.