Farm Laws Repealed: एक तरफ तीनों कृषि कानूनों (Farm Laws Repealed) को वापस लेने के लिए बनाए गए बिल को केंद्रीय मंत्रिमंडल (Central Cabinet)ने मंजूरी दे दी है, लेकिन इसके बावजूद किसान एमएसपी के लिए कानून बनाने की मांग कर रहे हैं. इसपर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Haryana CM manohar lal khattar) ने शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)से मुलाकात के बाद बड़ी बात कह दी है. खट्टर ने कहा कि मिनिमम सपोर्ट प्राइज (MSP) की गारंटी देने वाला कानून बनाना संभव नहीं है, क्योंकि यदि किसानों के उत्पाद को कोई दूसरा नहीं खरीदता है तो सरकार पर ऐसा करने का दबाव बनेगा.Also Read - PMRBP: आज प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं से 'मुलाकात' करेंगे पीएम मोदी

हरियाणा के सीएम खट्टर ने कही ये बात…
किसानों की ओर से एमएसपी कानून की मांग को लेकर जब हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ”अब तक इस पर कोई चर्चा नहीं हुई है. कृषि अर्थशास्त्रियों के भी अलग-अलग विचार हैं. इस पर कानून बनाना संभव नहीं लगता है. एमएसपी पर कानून संभव नहीं है, क्योंकि यदि ऐसा किया जाता है तो सरकार पर यह जिम्मेदारी आ जाएगी कि यदि कोई उनके उत्पाद को कोई नहीं खरीदता है तो सरकार को ऐसा करना पड़ेगा.” Also Read - शादी के कार्ड पर किसान आंदोलन की झलक, दूल्हे ने लिखवाया- जंग अभी जारी है, MSP की बारी है

सीएम खट्टर ने आगे कहा, ”सरकार को इतनी आवश्यकता नहीं है और इस पर सिस्टम बनाना भी संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि हम आवश्यकता के मुताबिक ही किसानों से अनाज खरीद कर सकते हैं.” Also Read - जानिए क्या है Teleprompter और कैसे करता है काम? जिसे लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कसा तंज

खट्टर ने कहा-सस्पेंस बना रहने दीजिए ना…

कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा के बाद सीएम मनोहर की पीएम से यह पहली मुलाकात थी. पीएम से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा कैबिनेट में फेरबदल व विस्तार के बारे में सस्पेंस बनाए रखा. उन्होंने कहा कि सस्पेंस बना रहे तो आपको भी आनंद हमें भी आनंद.

बता दें कि सीएम खट्टर ने शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी से नई दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की और पीएम के साथ हुई बैठक के बाद खट्टर ने ट्वीट करके बताया कि हरियाणा में विकास योजनाओं के अलावा कई मुद्दों पर उनकी बात हुई है.