Haryana Internet News:  हरियाणा के सोनीपत और झज्जर जिलों में शनिवार शाम तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहेंगी. एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई. केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के बीच राज्य के कुछ जिलों में शांति और कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है.Also Read - One Year of Farmers Protest: किसान आंदोलन का एक साल पूरा, सिंघु बॉर्डर पर जुटी भीड़, राकेश टिकैत बोले- लड़ेंगे, जीतेंगे

शुक्रवार को जारी बयान में कहा गया, ‘हरियाणा सरकार ने दो जिलों सोनीपत और झज्जर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं (2जी/3जी/4जी/सीडीएमए/जीपीआरएस), एसएमएस सेवाओं (केवल बल्क एसएमएस) और वॉयस कॉल को छोड़कर मोबाइल नेटवर्क पर प्रदान की करने वाली सभी डोंगल सेवाओं का निलंबन छह फरवरी को शाम पांच बजे तक बढ़ा दिया है.’ Also Read - शीतकालीन सत्र के पहले दिन ही कृषि कानूनों की वापसी पर लगेगी मुहर! BJP ने राज्यसभा सदस्यों को जारी किया व्हिप

आदेश में कहा गया कि आदेश का उल्लंघन करते हुए पाया गया कोई भी व्यक्ति संबंधित प्रावधानों के तहत कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा. बता दें कि गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा भड़कने के बाद राज्य सरकार ने दिल्ली से सटे तीन जिलों- सोनीपत, झज्जर और पलवल में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने का आदेश दिया था. Also Read - Kisan Andolan: राकेश टिकैत ने बताया कब खत्म होगा आंदोलन? ट्वीट कर दी यह जानकारी...

26 जनवरी के बाद, 17 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया, लेकिन बाद में सोनीपत और झज्जर जिलों को छोड़कर बाकी सभी जिलों में सेवाएं बहाल कर दी गईं. विपक्षी दलों ने मोबाइल इंटरनेट पर प्रतिबंध की निंदा की और कहा कि इस कदम से विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों पर असर पड़ेगा.

(इनपुट: भाषा)