World mental health day 2021: मानसिक स्वास्थ्य क्या है? और कैसे इसे ठीक रखें

य करता है कि हम तनाव से कैसे निपटते हैं और जीवन में कैसे संतुलन बनाए रखते हैं. बचपन से लेकर किशोरावस्था से लेकर वयस्कता और उम्र बढ़ने तक जीवन के हर कदम में मेंटल हेल्‍थ की अहम भूमिका है

Advertisement

World mental health day 2021: मानसिक स्वास्थ्य हमारे जीवन के हर क्षेत्र को प्रभावित करता है. यह बताता है कि हम कैसा सोचते हैं, कैस महसूस करते हैं और जीवन को किस तरह से जीते हैं और जीवन की समस्‍यों का हल कैसे करते हैं या उनका सामना कैसे करते हैं. यही बातें हमारे मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के स्‍तर को तय कर देती हैं. मेंटल हेल्‍थ में हमारा भावनात्मक संतुलन, मनोवैज्ञानिक स्‍तर के साथ ही सोशल वेलबीइंग शामिल भी है. हमारा मानसिक स्वास्थ्य यह निर्धारित करने में भी मदद करता है कि हम तनाव से कैसे निपटते हैं और जीवन में कैसे संतुलन बनाए रखते हैं. बचपन से लेकर किशोरावस्था से लेकर वयस्कता और उम्र बढ़ने तक, जीवन के हर कदम में मानसिक स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है.

Advertising
Advertising

आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को कैसे सुधार सकते हैं?

आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए कई अलग-अलग चीजें कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:-

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

- पॉजिटिव रहना

Advertisement

सकारात्मक दृष्टिकोण रखने का प्रयास करना महत्वपूर्ण है. ऐसा करने के कुछ तरीकों में शामिल हैं, जिसमें सकारात्मक और नकारात्मक भावनाओं के बीच आप संतुलन बनाते हैं. सकारात्मक रहने का मतलब यह नहीं है कि आप कभी भी निराशा या क्रोध जैसी नकारात्मक भावनाओं को महसूस नहीं करते हैं. आपको उन्हें महसूस करने की आवश्यकता है ताकि आप कठिन परिस्थितियों से आगे बढ़ सकें. वे इमोशन आपको किसी भी समस्‍या को हल करने में हेल्‍प कर सकती हैं.

-धन्‍यवाद का भाव रखना

कृतज्ञता का अभ्यास करना, जिसका अर्थ है अपने जीवन में अच्छी चीजों के लिए आभारी होना. हर दिन ऐसा करना मददगार होता है, या तो इस बारे में सोचकर कि आप किस चीज के लिए आभारी हैं. ये बड़ी चीजें हो सकती हैं, जैसे कि आपको अपने प्रियजनों से समर्थन, या छोटी चीजें, जैसे कि एक अच्छे भोजन का आनंद लेना. अपने आप को एक पल का आनंद लेने की अनुमति देना महत्वपूर्ण है कि आपके पास सकारात्मक अनुभव था. धन्‍यवाद के भाव का अभ्यास करने से आपको अपने जीवन को अलग तरह से देखने में मदद मिल सकती है. उदाहरण के लिए, जब आप तनावग्रस्त होते हैं, तो आप यह नहीं देख सकते हैं कि ऐसे क्षण भी होते हैं जब आपके पास कुछ सकारात्मक भावनाएं होती हैं कृतज्ञता आपको उन्हें पहचानने में मदद कर सकती है.

दूसरों के साथ जुड़ना

मनुष्य सामाजिक प्राणी हैं और दूसरों के साथ मजबूत, स्वस्थ संबंध रखना महत्वपूर्ण है. अच्छा सामाजिक समर्थन होने से आपको तनाव के नुकसान से बचाने में मदद मिल सकती है. परिवार और दोस्तों से जुड़ने के अलावा, आप अपने समुदाय या पड़ोस से जुड़ने के तरीके खोज सकते हैं. कई तरह के सोशल कनेक्शन होना भी अच्छा है. आप किसी स्थानीय संगठन के लिए स्वयंसेवा कर सकते हैं या उस समूह में शामिल हो सकते हैं जो आपके शौक पर केंद्रित है.

मेंटल और फिजिकल हेल्‍थ ऐसे ठीक रखें

अपने शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें, क्योंकि आपका शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य आपस में जुड़ा हुआ है. अपने शारीरिक स्वास्थ्य की देखभाल करने के कुछ तरीकों में शामिल हैं:

शारीरिक रूप से सक्रिय रहना

व्यायाम तनाव और अवसाद की भावनाओं को कम कर सकता है और आपके मूड में सुधार कर सकता है. आपकी अतिरिक्‍त कैलोरी बर्न होती है. फैट बर्न होने से कोलेस्‍ट्रॉल की समस्‍या नहीं होती है, वजन संतुलित रहता है. बॉडी और माइंड को स्‍वस्‍थ रखने में शारीरिक सक्र‍ियता जरूरी है. माइंड के साथ हार्ट स्‍वास्‍थ रहता है, मेटाबोलिक रेट ठीक रहता है. प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहती है.

पर्याप्त नींद लें

नींद आपके मूड को प्रभावित करती है. यदि आपको अच्छी नींद नहीं आती है, तो आप अधिक आसानी से नाराज़ और क्रोधित हो सकते हैं. लंबी समय तक यदि आप अच्‍छी नींद नहीं ले पाते हैं तो यह आपमें डिप्रेशन की अधिक संभावना बना सकती है. इसलिए यह सुनिश्चित करें कि आप नियमित से हर रात गहरी और पर्याप्‍त 6 से 8 घंटे की नींद लें.

पौष्टिक भोजन

अच्छा पोषण आपको शारीरिक रूप से बेहतर रखने के साथ ही यह आपके मेंटल स्‍टेट को भी ठीक रखने में मदद करता है. अच्‍छा संतुलित आहार चिंता और तनाव को कम कर सकता है. इसके अलावा, कुछ पोषक तत्वों का पर्याप्त न होना कुछ मानसिक बीमारियों को बढ़ा सकता है. अगर आपकी बॉडी से विटामिन बी12 के निम्न स्तर पर पहुंच जाए तो यह डिप्रेशन बढ़ा सकता है. एक अच्छी तरह से संतुलित आहार खाने से आपको आवश्यक पोषक तत्व प्राप्त करने में मदद मिल सकती है.

मेडिटेशन

ध्‍यान एक मानिसक प्रक्रिया है, जिसका मेंटल हेल्‍थ पर तो असर होता ही है फिजिकल हेल्‍थ को भी बेहतर रखता है. माइंड को रिलैक्‍स करने की कई तरह की मेडिटेशन टेक्‍नीक हैं. जैसे माइंडफुलनेस मेडिटेशन, ट्रान्सेंडैंटल मेडिटेशन, ब्रीदिंग, मंत्र मेडिटेशन आदि.

योगासन और ब्रीदिंग

माइंड और बॉडी को बेहतर रखने में विभिन्‍न योगासनों और प्रयाणायाम की अच्‍छी भूमिका है. इसका प्रचलन वर्तमान में सबसे अधिक है. यह वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित है. मेंटल एक्‍सपर्ट और मेडिकल साइंटिस्‍ट भी इसके लिए सभी लोगों को सलाह देते हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:October 9, 2021 10:51 PM IST

Updated Date:October 9, 2021 10:51 PM IST

Topics