हम में से कम ही लोग होंगे जिनके दांत पूरी तरह से स्वस्थ होंगे. वजह साफ है, दांतों की सफाई के मामले में हम लोग दिन में दो बार टूथब्रश करना काफी समझते हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. मानसून के दौरान दांतों से संबंधित कई समस्याएं हो सकती हैं, जो दांतों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं, इसलिए टूथब्रश बदलना जरूरी है और नियमित रूप से दांतों को फ्लॉस (दांत साफ करने वाला धागा) करें. आर्थोडोंटिक क्लीनिक डेंटेम की निदेशक गुनिता सिंह और सर गंगा राम हॉस्पिटल के सीनियर ऑर्थोडोंटिस्ट तन्वीर सिंह ने उन सावधानियों के बारे में बताया, जिससे दांतों को स्वस्थ रखा जा सकता है:

1) अपने टूथब्रश को अक्सर बदलते रहें और नया टूथब्रश इस्तेमाल करें क्योंकि इससे मुंह की स्वच्छता को बरकरार रखने में मदद मिलती है.

2) नियमित रूप से फ्लॉस करना चाहिए. सुझाए गए फ्लॉस की लंबाई हर फ्लॉसिंग सेशन में 18 इंच है. दिन-प्रतिदिन के फ्लॉसिंग प्लान के हिसाब से एक महीने में यह करीब 45 फीट का हो जाएगा.

3) विटामिन सी और कैल्शियम युक्त उचित स्वास्थ्यपरक आहार के साथ मौसमी खाद्य पदार्थों और सब्जियों का सेवन जरूरी है. मानसून में सेब, नाशपाती, स्ट्रॉबेरी, दही और ओट का सेवन लाभकारी होता है.

4) नियमित रूप से दांतों का चेकअप सभी के लिए जरूरी है. इससे न सिर्फ आपके दांत स्वस्थ रहेंगे बल्कि कोई समस्या होने पर शुरुआती अवस्था में ही इसका पता चल जाएगा.

5) इस मौसम में हम कॉफी या चाय जैसे गर्म पेय क खूब सेवन करते हैं, जिसमें कैफीन होता है, इससे आपके दांत खराब या कमजोर हो सकते हैं और उन पर दाग या कालापन हो सकता है, इसलिए दोनों का कम मात्रा में सेवन करने की कोशिश करें.