नई दिल्‍ली: कब्‍ज और पेट में गैस की समस्‍या ऐसी है जिससे आज ज्‍यादातर लोग पीडि़त हैं. अगर आप भी इनमें से एक हैं तो चिंता करने की जरूरत नहीं है. आज हम आपको बता रहे हैं कि आयुर्वेद के अनुसार वो कौन सी 7 चीजें हैं, जिन्‍हें आपको खाना चाहिए. Also Read - कोरोना संक्रमण के बाद होने वाली चुनौतियों से निपटने में आयुर्वेद और योगा बेहद मददगार है: नाइक

Acidity Also Read - Alert: कफ की एक बूंद 6.6 मीटर दूर जाकर कर सकती है किसी को भी बीमार, रहें सतर्क

खास बात ये है कि इन चीजों को खाने के लिए आपको किसी खास चूर्ण या औषधि को बनाना नहीं होगा. बल्कि ये सभी आपको रसोई में ही आसानी से मिल जाएंगी. तो देर किस बात की, जानते हैं कि आयुर्वेद क्‍या कहता है. Also Read - आयुर्वेद और होम्योपैथी चिकित्सा अधिकारियों के लिए खुशखबरी, नियुक्ति पत्र जारी, डिस्पेंसरी आवंटन भी हुआ

1. वात्‍त दोष मुक्‍त भोजन
इसका अर्थ है कि ठंडे भोजन और पेय, मेवे, सलाद और फलियों से दूर रहें. गर्म ताजा भोजन, गर्म पेयजल, अच्‍छी तरह से पकी सब्जियों का सेवन करें.

2. त्रिफला
ये कब्‍ज निवारण का अचूक उपाय है. इसके लिए एक चौथाई त्रिफला, आधा चम्‍मच धनिया के दाने और एक चौथई
चम्‍मच इलायची दाने लें. इन्‍हें पीस लें और दिन में दो बार लें.

3. दूध व घी
The Complete Book of Ayurvedic Home Remedies नामक किताब के अनुसार एक
कप गर्म दूध में एक या दो चम्‍मच घी लें. इसे रात में सोने से पहले पीएं.

4. बेल
आधा कप बेल का पल्‍प और एक चम्‍मच गुण रात के भोजन से पहले लें. आप बेल शरबत भी ले सकते हैं.

mulethi

5. मुलेठी
एक चम्‍मच मुलेठी पाउडर लें. इसमें एक चम्‍मच गुड़ मिलाएं. इसका मिश्रण बनाकर गर्म दूध में मिला लें. रात में दूध
पीएं. लगातार सेवन के लिए डॉक्‍टर से संपर्क करें.

6. भुनी सौंफ
भुनी सौंफ का एक चम्‍मच रात को सोने से पहले चबाकर खाएं. इसे गर्म पानी के साथ लें.

7. अंजीर
अंजीर को गर्म पानी में डालकर लें. इसमें काफी फाइबर होता है. इसे आप रोजाना
खा भी सकते हैं.