न्यूयॉर्क: समलैंगिक यानी बाइसेक्सुअल लोगों को दिल की सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए. एक सर्वे में ये बात कही गई है.Also Read - Omicron Scare: ओमिक्रोन वेरिएंट के खतरे से बचाएं अपने बच्चों को, वीडियो में जानिए कैसे रखे उन्हें सुरक्षित |Watch

सर्वे में कहा गया है कि बाइसेक्सुअल होना दिल की सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है. इसमें बताया गया है कि उभयलिंगी लोगों में हेट्रोसेक्सुअल (विषमलिंगी) पुरुषों की तुलना में दिल संबंधी रोगों का खतरा ज्यादा होता है. Also Read - New Corona Variant Omicron: इससे लड़ना है या डरना है? सुनिए expert ने क्या कहा | Watch Video

शोधकर्ताओं के अनुसार, पुरुषों में यौन उन्मुखीकरण का दिल के रोगों के जोखिम पर असर के बारे में बहुत कम जानकारी है. इस तथ्य के बावजूद गे या बाइसेक्सुअल पुरुषों में परिवर्तनीय कारकों जैसे तंबाकू सेवन व खराब मानसिक स्वास्थ्य के आधार पर दिल संबंधी रोगों का जोखिम ज्यादा होता है. Also Read - Omicron Variant: भारत में बरपा ओमिक्रोन वेरिएंट का कहर, जानिए इससे बचने का तरीका और कैसे इसे फैलने से रोका जाए | Expert Advice

Fugay 1

न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय के बिली कासेरेस ने कहा, ‘हमारे निष्कर्षों से पुरुषों के दिल संबंधी स्वास्थ्य पर यौन उन्मुखीकरण का असर उजागर होता है और यह चिकित्सकों व सार्वजनिक स्वास्थ्य चिकित्सकों को बाइसेक्सुअल पुरुषों में दिल के रोगों के जोखिम को कम करने व रोकथाम के लिए उनकी जांच करने की सलाह देता है’.

इस शोध का प्रकाशन पत्रिका ‘एलजीबीटी हेल्थ’ में किया गया है. इसमें शोधकर्ताओं ने दिल के रोगों व इनकी जांच के लिए परिवर्तनीय जोखिम कारकों में अंतर का परीक्षण किया है. इसमें विभिन्न यौन उन्मुखीकरण वाले 7,731 पुरुषों का परीक्षण किया गया, जिनकी आयु 20 से 59 वर्ष के बीच है.
(एजेंसी से इनपुट)