नई दिल्‍ली: अगर आपको भी तनाव रहता है तो इसकी वजह आपके शरीर की जैविक घड़ी हो सकती है. ये बात एक नए शोध में सामने आई है. Also Read - Umang App में अब आपको मिलेंगी 4 नई सुविधाएं, जानें किस काम आता है यह ऐप

शोध की रिपोर्ट को ‘द लैंसेट साइकेट्री’ नाम की पत्रिका में प्रकाशित किया गया है. इसकी रिपोर्ट में कहा गया है कि शरीर की आंतरिक घड़ी की लय में गड़बड़ी से तनाव होता है. इसकी वजह से जीवन में खुशी की कमी होती है. स्वास्थ्य खराब होता जाता है. Also Read - Corona Lockdown: इस मेडिटेशन Techniques से 5-10 मिनट में स्‍ट्रेस करें दूर, बढ़ाएं इम्‍युनिटी

क्‍या होती है जैविक घड़ी
हमारी 24 घंटे की जैविक घड़ी मूल शारीरिक और व्यावहारिक कार्यों को नियंत्रित करती है. जिसमें लगभग सभी जीवों में शरीर के तापमान के साथ खाने की आदतें शामिल होती हैं. Also Read - दिल्ली सरकार ने प्राइवेट हॉस्पिटल्स को दी चेतावनी, लोगों का इलाज न किया तो रद्द किए जाएंगे लाइसेंस

शोध में जिन व्यवधान या बाधाओं की बात की गई है वो आराम की अवधि के दौरान ज्यादा सक्रियता या दिन के दौरान असक्रियता से जुड़ी होती हैं.
ग्लासगो विश्वविद्यालय में किए गए इस शोध से जुड़ी लौरा लाइल ने बताया, ‘हमारे निष्कर्ष बदलते दैनिक शारीरिक जैविक घड़ी की लय और मनोदशा विकारों और अच्छी अवस्था के बीच संबंध दिखाते है’.

Stress

मिला था नोबेल
अमेरिका के तीन वैज्ञानिकों जैफ्री सी हाल, माइकल रोसबाश तथा माइकल डब्ल्यू यंग को मानव शरीर की आंतरिक जैविक घड़ी विषय पर किए गए उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए पिछले साल के चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है. आंतरिक जैविक घड़ी को सर्केडियन रिदम के नाम से जाना जाता है.

जानें जैविक घड़ी को
इन वैज्ञानिकों ने अपने रिसर्च में पाया था कि जैविक घड़ी इस तरह लयबद्ध होती है कि इसका सीधा तालमेल पृथ्‍वी के रोटेशन से होता है. इसके कारण शरीर में होने वाले बदलावों के बारे में इन्‍होंने बताया कि रात नौ बजे मेलाटोनिन के स्राव से नींद आने लगती है. रात दो बजे गहरी नींद का समय होता है. सुबह 4.30 बजे शरीर का सबसे कम तापमान रहता है.

सुबह 6.45 बजे से ब्‍लड प्रेशर में तेजी से वृद्धि होने लगती है. नतीजतन नींद खुलने का समय हो जाता है. सुबह 10.30 बजे सर्वाधिक सक्रियता का समय होता है. दोपहर ढाई बजे सर्वाधिक समन्‍वय का समय होता है. शाम 6.30 बजे सर्वाधिक ब्‍लड प्रेशर का समय होता है और शाम सात बजे सर्वाधिक ब्‍लड प्रेशर होता है.