Coronavirus advisory In India: कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (World Health Organization) ने पहले से ही चेतावनी जारी कर रखी थी. संस्था ने आशंका जताई थी कि चीन क्षेत्र या फिर भारतीय क्षेत्र में यह वायरस सबसे पहले अपना असर दिखाएगा. लेकिन चीन को कोरोना वायरस (Coronavirus) ने अपने चपेट में ले लिया है. इसके मद्देनजर भारतीय स्वास्थ्य एजेंसियां और भारत सरकार भी अलर्ट हो चुकी है. चंडीगढ़, मोहाली और अमृतसर  अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट्स पर कोरोना वायरस के मद्देनजर अलर्ट जारी कर दिया गया है. एयरपोर्ट पर मेडिकल व सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. इसके मद्देनजर सुरक्षा जांच की जाएगी. मेडिकल टीम द्वारा जांच करने के बाद उचित कदम उठाया जाएगा. बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) कई सारे वायरसों का समूह (Family of viruses) हैं. इसके साथ सबसे बुरी बात है कि अगर इसके इलाज के लिए किसी प्रकार की दवा या एंटीडॉट बनाए जाते हैं तो वायरस अपने आदतों में बदलाव कर दवाओं के असर को खत्म कर देगा. इसलिए इस वायरस को दुनिया भर में खतरनाक माना जा रहा है. Also Read - Anand Mahindra को इस तस्वीर ने किया परेशान, Tweet कर बोले- ये जुगाड़ तारीफ लायक नहीं

Coronavirus की चपेट में आने से कई लोगों की मौत

बता दें कि चीन में कोरोना वायरस (Coronavirus) विषाणु के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है और इससे 830 लोगों के पीड़ित होने की पुष्टि हुई है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि इस विषाणु के कारण 25 लोगों की मौत हुई है जिनमें से 24 की मौत मध्य चीन के हुबेई प्रांत में और एक की मौत उत्तरी चीन के हेबेई में हुई है. उसने बताया कि गुरुवार तक कोरोनावायरस के कारण निमोनिया से पीड़ित होने के 830 मामलों की पुष्टि हुई है. आयोग ने बताया कि देश के 20 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों में कुल 1072 संदिग्ध मामले सामने आए हैं. चीन ने कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए अभूतपूर्व कदम उठाते हुए बृहस्पतिवार को वुहान सहित पांच शहरों को सील कर दिया था. Also Read - Night Curfew In Maharashtra: महाराष्ट्र में कोरोना से आफत, Wardha जिले में नाइट कर्फ्यू लागू

चीनी नववर्ष के पहले सड़कों पर भीड़भाड़ बढ़ने के मद्देनजर गाड़ियों, ट्रेनों और विमानों समेत आवागमन के विभिन्न माध्यमों को रोक दिया गया है. इन शहरों में तकरीबन दो करोड़ लोग रहते हैं. चीनी अधिकारियों ने बृहस्पतिवार शाम हुबेई प्रांत में पांच शहरों – हुगांग, एझाओ, झिजियांग, क्विनजिआंग और वुहान में सार्वजनिक परिवहन को रोकने की घोषणा की. इस विषाणु से मरने वालों की औसत उम्र 73 साल है। मृतकों में सबसे उम्रदराज शख्स 89 साल का था जबकि सबसे कम उम्र के लिहाज से 48 साल के व्यक्ति की मौत हुई. भारतीय दूतावास ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि चीनी अधिकारियों ने प्रांत में रह रहे भारतीयों को खाद्य आपूर्ति सहित सभी सहयोग का आश्वासन दिया है. भारत के लिहाज से भी चिंता की वजह है क्योंकि करीब 700 भारतीय छात्र वुहान और आसपास के इलाके में रहते हैं. इन छात्रों में ज्यादातर चीनी विश्वविद्यालयों में चिकित्सा की पढ़ाई करते हैं. Also Read - महाराष्ट्र और केरल से राजस्थान आने वालों को लानी होगी कोरोना की नेगेटिव जांच रिपोर्ट

Coronavirus के ये हैं लक्ष्ण

बता दें कि चीन सरकार ने पहले इस बात की पुष्टि नहीं की कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के चपेट में कई लोग आ चुके हैं लेकिन वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO/Coronavirus) और दुनिया भर की मीडिया रिपोर्टों के बाहर आने के बाद चीन ने इस बात की पुष्टि की कि कुछ लोग वायरस के चपेट में आ चुके हैं. साथ ही कुछ लोगों की मृत्यु हो चुकी हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चपेट में आने पर आपको- खांसी, कफ, छींकना, सिरदर्द, बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत हो सकती हैं.

(इनपुट-भाषा)