Frequent Urination: काफी लोग बार-बार पेशाब जाने की समस्या से पीड़ित होते हैं. इसका मुख्य कारण ओवरएक्टिव ब्लैडर होता है. बार-बार पेशाब आने से समस्या काफी जटिल मानी जाती है. कई बार इसे मधुमेह या फिर अन्य कई बीमारियों का लक्षण माना जाता है, लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि यह किसी बीमारी का लक्षण नहीं होता. ऐसा Overactive Bladder के कारण होता है.

पेशाब करने की लगातार और तीव्र आवश्यकता असुविधा और शर्मिंदगी का कारण बन सकती है, खासकर जब आप किसी महत्वपूर्ण बैठक या इवेंट में हों. ओवरएक्टिव ब्लैडर (Overactive Bladder) तब होता है जब आपके मूत्राशय की मांसपेशियां अचानक बिना किसी वार्निंग के सिकुड़ जाती हैं. जब आपके मूत्राशय में यूरिन की मात्रा कम होती है, तब भी आपको तेजी से पेशाब आने का आभास हो सकता है. बार-बार बाथरूम जाने की यह स्थिति रात में आपकी नींद भी खराब कर सकती है. कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो इस समस्या से छूटकारा दिला सकते हैं. लेकिन आपको इस बात से सावधान रहना चाहिए कि आप दिन भर में क्या खाते हैं. यहां हम 4 बेहतरीन खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं जो इन समस्याओं से निपटने में मददगार हो सकता है.

केला
केले में पोटेशियम और फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो आपके यूरिन पथ के लिए सबसे अच्छा होता है. रोजाना केला खाने से मल त्याग में भी आसानी होती है. आप पूरा केला ले सकते हैं या केले का सेक बनाकर ले सकते हैं.

नट
ओवरएक्टिव ब्लैडर से निपटने के दौरान काजू, बादाम और मूंगफली आपके आहार का हिस्सा होना चाहिए. इसमें प्रोटीन भरपूर मात्रा में होता है और इसे हेल्दी ब्रेकफास्ट के तौर पर लिया जा सकता है. इसके अलावा इसमें फाइबर और अन्य स्वस्थ पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर होती है.

खीरा
गर्मी का मौसम आते ही खीरा और ककड़ी जैसे सब्जियों का मौसम भी शुरू हो जाता है. इसमें एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर और विटामिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है. ओवरएक्टिव ब्लैडर से छुटकारा पाने वाले व्यक्तियों के लिए खीरा एवं ककड़ी पसंदीदा विकल्प है. एक स्वस्थ ब्लैडर के लिए खीरे के सलाद के तौर पर एक बड़ा कटोरा लिए जा सकते हैं.

मसूर की दाल
दाल में हाई फाइबर पाया जाता है. यह हमारे रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा होना चाहिए. इसमें पॉलीफेनोल्स जैसे यौगिकों पाए जाते हैं, जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है.