कोरोना वायरस महामारी से पूरी दुनिया त्राहिमाम कर रही है. दिनों दिन इस वायरस से संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. इस वायरस का अभी तक कोई दवा या वैक्सीन नहीं बन सकी है. इसी बीच रिसर्चरों ने बुधवार को कोरोना वायरस के संभावित इलाज को लेकर एक अच्छी खबर जारी की हैं. उन्होंने कहा कि दवा Remdesivir कोरोना वायरस के संक्रमण से मरीजों को जल्दी ठीक होने में मदद कर सकती है. Also Read - मेरठ में जुड़वा भाईयों की कोरोना से मौत, साथ हुए पैदा और साथ ही हुई मौत

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने अभी तक कोरोना वायरस के इलाज के लिए किसी भी दवा को मंजूरी नहीं दी है. लेकिन Remdesivir के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए आधिकारिक घोषणा की जाने की योजना है. सीएनएन को दिए एक बयान में एफडीए ने कहा कि यह मरीजों को दवा उपलब्ध कराने के बारे में रेमेडीसविर बनाने वाली कंपनी Gilead Sciences के साथ बातचीत किया जा रहा है. FDA के प्रवक्ता Michael Felberbaum ने अपने एक बयान में कहा, “एफडीए की प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में विकास और संभावित COVID-19 उपचारों की उपलब्धता में तेजी लाने के लिए एजेंसी Gilead Sciences से बातचीत कर रही है ताकि मरीजों को जितनी जल्दी हो सके, उचित रूप में यह दवा उपलब्ध कराया जा सके. Also Read - Badrinath Temple: ब्रह्म मुहुर्त में खुला बदरीनाथ धाम का कपाट, दर्शन पर फिलहाल रोक

सरकार द्वारा वित्त पोषित अध्ययन में पाया गया कि जिन मरीजों ने Remdesivir लिया, वे उन मरीजों की तुलना में तेजी से ठीक हुए, जिन्होंने यह मेडिसिन नहीं लिए थे. कोरोना वायरस से अबतक 10 लाख से अधिक अमेरिकी संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से 60,000 के करीब लोग मारे जा चुके हैं. ऐसे में यह मेडिसिन लोगों के लिए एक उम्मीद है. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के प्रमुख परिणामों के बारे में आशावादी थे. Dr. Anthony Fauci ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ मुलाकात के दौरान कहा, “डेटा बताता है कि रेमेडिसविर इस वायरस को कम करने के लिए महत्वपूर्ण और इसका सकारात्मक प्रभाव भी देखा गया है.” Also Read - कोरोना मरीजों को अब नहीं दी जाएगी Plasma Therapy, AIIMS और ICMR ने जारी की नई गाइडलाइन