नई दिल्ली: क्या आपके बॉस आपको हमेशा ई-मेल से जुड़े रहने और बिना सीमा के कार्य करने की हिदायत देते हैं? अगर हां, तो यह आपके स्वास्थ्य व सेहत को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ आपके परिवारिक रिश्तों में टकराव पैदा कर सकता है. Also Read - Festive Season में ऑफिस में ऐसे करें काम, बदल जाएगा माहौल

Also Read - ऑफिस में काम का है STRESS, तो चली जाएगी समय से पहले जान

एक नए अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है. गैर-कामकाजी घंटों के दौरान मालिकों द्वारा काम की अपेक्षा पर जोर देने के कारण पारिवारिक संबंधों में तनाव पैदा होता है, क्योंकि कर्मचारी घर से काम के इतर भूमिकाएं पूरा करने में असमर्थ होते हैं. Also Read - Family life is affected when working from home | घर से काम करना पारिवारिक जीवन पर डाल सकता है बुरा असर

संभव है अल्जाइमर का इलाज, ये हैं इसे शुरूआत में ही रोकने के कुछ सुझाव

अमेरिका के पेंसिलवेनिया स्थित लेहघ विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर लिउबा बेल्किन ने कहा, “ऐसी अपेक्षाएं घातक तनाव पैदा करती हैं, जो न केवल कर्मचारियों की चिंता को बढ़ाने, उनके रिश्ते में संतुष्टि को कम करने और कर्मचारी स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डालने का काम करती हैं, बल्कि यह उनके साथी के स्वास्थ्य और वैवाहिक संतुष्टि धारणाओं पर नकारात्मक प्रभाव डालती हैं.”

रिसर्चः चीन-अमेरिका से ज्यादा ‘टेंशन’ भारत में, 89 प्रतिशत लोग रहते हैं तनाव में

कर्मचारियों को हानिकारक प्रभावों का अनुभव करने के लिए अपने आराम के घंटों में काम पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है. यह निष्कर्ष शिकागो में एकेडमी ऑफ मैनेजमैंट की वार्षिक बैठक में प्रस्तुत किया गया.

(इनपुट: एजेंसी)