लंदन: द लैंसेट ग्लोबल हेल्थ में प्रकाशित एक नए अध्ययन के मुताबिक, दुनियाभर में हर साल कम से कम 3.9 मिलियन यानी 39 लाख लोगों की समय से पहले मौत हो रही है. ब्रिटेन के एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के शोधकर्ता डॉ. पॉल केली ने कहा है, “इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि जीवनशैली के कारकों, जैसे शारीरिक गतिविधि की कमी, खराब आहार, शराब पीना, और धूम्रपान स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने वाले तत्व हैं.” अपने अध्ययन में इस रिसर्च टीम ने पाया कि जो लोग शारीरिक रूप से सक्रिय हैं, उनकी मौतों का अनुपात कम था. Also Read - Health Tips: डाइट में शामिल करें ये 5 एंटी-एजिंग फूड्स, हमेशा दिखेंगी जवां-जवां

टीम ने 168 देशों के पहले से प्रकाशित आंकड़ों को देखा. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सप्ताहभर में कम से कम 150 मिनट की मध्यम-तीव्रता वाली एरोबिक गतिविधि की सिफारिश की है या 75 मिनट की जोरदार-तीव्रता वाली गतिविधि करने को कहा है. आंकड़ों का विश्लेषण कर उन्होंने पाया कि विश्व स्तर पर, जो लोग शारीरिक गतिविधियों से जुड़े थे उनमें समय से पहले होने वाली मौतों की संख्या औसतन (औसतन) 15 प्रतिशत कम थी, जो कि महिलाओं के लिए 14 प्रतिशत और पुरुषों के लिए 16 प्रतिशत थी. यह लगभग 3.9 मिलियन यानी 39 लाख लोगों के प्रतिवर्ष जीवन बचाने जितनी है. Also Read - Health Tips: रोजाना करें प्याज के जूस का सेवन, ये बीमारियां हो जाएंगी छू-मंतर

यह भी पता चला है कि कम आय वाले देशों में यह औसतन 18 फीसदी और उच्च आय वाले देशों के लिए औसतन 14 प्रतिशत थी. ब्रिटेन के कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय की स्टडी रिसर्चर टेसा स्ट्रेन ने कहा, “चाहे वह खेल हो या जिम या फिर लंच के समय सिर्फ तेज चलना, हम बचाए गए लोगों की संख्या पर गौर कर हासिल की जा रही उपलब्धि की एक अच्छी खबर बता सकते हैं.” Also Read - एक्सरसाइज हर साल 40 लाख मौतों को समय से पहले होने से है रोकता, शोध में आई ये बात सामने