न्यूयॉर्क: पिता, कृपया ध्यान दें! बहुत ज्यादा तनाव आपके बच्चों के दिमाग के विकास को प्रभावित कर सकता है. एक नए शोध में यह दावा किया गया है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, तनाव पिता के शुक्राणुओं को बदल देता है, जिससे बच्चे के दिमाग का विकास बाधित हो सकता है. शोधकर्ताओं ने कहा है कि नया शोध बच्चों के दिमाग के विकास में पिता की भूमिका की बेहतर समझ प्रदान करता है. Also Read - Viral News: 23 की उम्र में हैं 11 बच्चे, 8 करोड़ खर्च कर बनना चाहती है 100 की मां

इससे पहले, यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल के शोधकर्ताओं ट्रेसी बेल व अन्य ने नर चूहों पर किए गए प्रयोग में पाया कि उसके क्रोनिक तनाव का मुख्य कारण उसके पिता के शुक्राणु में हुआ जेनेटिक मैटेरियल माइक्रोआरएनए में हुआ उत्परिवर्तन है. यह जीन प्रोटीन की कार्यप्रणाली में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. Also Read - Pariksha Par Charcha 2021: PM मोदी बोर्ड परीक्षा के छात्र-छात्राओं से करेंगे 'परीक्षा पर चर्चा'

अब शोधकर्ताओं ने इन माइक्रोआरएनए में हुए बदलाव के संबध में नई जानकारियां हासिल की हैं. पिता के शुक्राणुओं के माइक्रोआरएनए में हुए परिवर्तन का मुख्य कारण तनाव है. Also Read - रिपोर्ट में हुआ खुलासा, कोरोना महामारी के चलते लोगों की मेंटल हैल्थ पर पड़ा है बुरा असर

इस शोध के परिणाम को ऑस्टिन में हुए एएएएस 2018 सालाना सम्मेलन में प्रस्तुत किया गया. शोधकर्ताओं ने यह भी कहा कि पिता के जोखिम और बच्चों में बीमारी के जोखिम के बीच संबंधों के बारे में अधिक जानकारी हासिल कर हम इन विकारों को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं, जिससे इनका पता लगाने और इन्हें रोकने में कामयाबी मिलेगी.