अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज (जेएनएमसी) में जन्मजात हृदयदोष से ग्रसित बच्चों की मुफ्त में सर्जरी होगी. विश्वविद्यालय ने इस संबंध में एक ब्रिटिश चैरिटी के साथ समझौता किया है.Also Read - Omicron के मामले बढ़ने पर क्या फिर से लगेगा Lockdown? Video में जानिए

हीलिंग लिटिल हर्ट (एचएलएच) चैरिटी के साथ ये समझौता किया गया है. AMU के कुलपति तारिक मंसूर और प्रति-कुलपति तबस्सुम शाहाब व एएमयू के पूर्व छात्र शमशुल जोहा के सहयोग से ये समझौता हुआ है. Also Read - Health Benefits Of Avocado: एवोकाडो के इन बेहतरीन फायदों के बारे में जानकर दंग रह जायेंगे आप, आज ही ट्राय करें | वीडियो देखें

इस समझौते पर कुलसचिव जावेद अख्तर, कार्डियोथोरैसिस सर्जरी विभाग के अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ बेग और आजम हसीम ने एचएलएच के संजीव निचानी और जोहा के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए. Also Read - Omicron Variant: कितना खतरनाक है ओमिक्रोन वेरिएंट, क्या हैं इसके लक्षण? जानिए सबकुछ एक्सपर्ट की ज़ुबानी | Watch

इस बारे में अधिक जानकरी देते हुए प्राध्यापक बेग ने कहा, ‘रिसर्च से पता चला है कि स्वतंत्रता के बाद भारत में प्रतिवर्ष जन्म लेने वाले 1 लाख से ज्यादा नवजात शिशु जन्मजात हृदय रोग से ग्रसित होते हैं. हृदय रोग से ग्रस्त इन बच्चों की मदद करने के लिए जरूरी कदम उठाने का यह सही समय है’.

उन्होंने कहा कि कई बच्चों को हृदय संबंधी सर्जरी की जरूरत होती है लेकिन वित्तीय बाधाओं की वजह से बच्चे की सर्जरी नहीं हो पाती. इन्‍हीं की मदद करने को ये पहल की गई है.
(एजेंसी से इनपुट के आधार पर)