नई दिल्ली: हमारे देश में हल्दी लंबे समय से खाई जाती रही है. मसाले के तौर पर इसका प्रयोग हजारों सालों से हो रहा है. पर अब इसके फायदों की लिस्ट में एक फायदा और जुड़ गया है. ये फायदा गिनाया गया है जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के एक शोध में.Also Read - उत्तर-पूर्व दिल्ली दंगे मामला: अदालत ने जेएनयू, जामिया के छात्रों को दी जमानत

Also Read - QS World University Rankings 2022: IISc बेंगलुरु दुनिया के टॉप रिसर्च यूनिवर्सिटी में शुमार, JNU ने पहली बार इस रैंकिंग्स में बनाई जगह, जानें डिटेल

इस शोध में कहा गया है कि हल्दी खाने से पेट का कैंसर नहीं होता. शोध को JNU के डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी ने किया है. रिसर्च के मुताबिक, शोध करने का प्रमुख लक्ष्य करक्यूमिन (curcumin) के फायदों के बारे में जानना था. Also Read - Breaking: दिल्ली हिंसा केस में जेल गए उमर खालिद को मिली जमानत, कोर्ट ने पुलिस के लिए कही ये बात

दूध-केला साथ खाने से पहले जरा रुकें, जान लें क्या होते हैं नुकसान…

Turmeric face pack

पांच छात्रों ने ये शोध किया. वे पिछले पांच सालों से ये शोध कर रहे थे. छात्रों ने डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी के प्रोफेसर रूपेश चतुर्वेदी की अगुवाई में ये शोध किया.

अब इस शोध की विस्तृत रिपोर्ट पेश की गई है. इसमें कहा गया है कि लखनऊ के 40 लोगों के सैंपल लिए गए. ये पता चला कि हल्दी से पेट के कैंसर के इलाज में काफी फायदा मिलता है. साथ ही इसके नियमित सेवन से कैंसर की रोकथाम हो सकती है.

क्या आप भी खा रहे हैं मिलावट वाले मसाले? ऐसे करें घर पर हर मसाले की जांच…

Turmeric_main_0127

प्रोफेसर ने बताया कि शोध में ये भी पता चला कि 40 में से 39 लोग लगातार ऐसे भोजन (जंक फूड) का सेवन कर रहे थे जिससे शरीर में Helicobacter Pylori bacteria बनता है. ये वही बैक्टीरिया है जो पेट में अल्सर बनाता है और बाद में इससे कैंसर होता है.

पैकेट बंद दूध असली है या नकली, इन 7 टिप्‍स की मदद से 2 मिनट में करें पहचान…

इस शोध को जिन छात्रों ने किया उनके नाम हैं- रोहित तिवारी, अल्का यादव, ज्योति गुप्ता, ज्योति और अच्युत पांडे.

हेल्थ की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.