#HantaVirus: दुनिया फिलहाल कोरोनावायरस से निपटने में परेशान है, तो चीन में एक नए वायरस की खबर ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है. इस वायरस का नाम है हंतावायरस. इस वायरस को लेकर पूरी दुनिया में तब बात होने लगी जब इसके कारण चीन में एक व्यक्ति की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि इस वायरस से चीन में 23 मार्च को एक व्यक्ति की मौत हुई है. Also Read - PM मोदी शनिवार को सभी मुख्‍यमंत्रियों से करेंगे VC, लॉकडॉउन बढ़े या नहीं, हो सकता है फैसला

ग्लोबल टाइम्स ने यह खबर दी. इसमें ये भी बताया गया कि हंतावायरस से संक्रमित शख्स जिस बस में सवार था, उसमें सवार 32 लोगों की जांच की गई है. सीडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक़, हंता वायरस चूहों से फैलता है. Also Read - पूर्वोत्तर क्षेत्र में कोरोना वायरस से पहली मौत, नॉर्थ ईस्टर्न के इन पांच राज्यों में कुल 34 लोग हैं संक्रमित

कैसे फैलता है हंतावायरस

  Also Read - Covid 19 लॉकडाउन के बीच रात में 40 लोगों ने ग्रुप में मस्जिद में नमाज अदा की, FIR दर्ज

अगर कोई इंसान चूहों के मल-मूत्र या लार को छूने के बाद अपने चेहरे पर हाथ लगाता है तो हंता संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है. राहत की बात ये है कि अभी तक यह कहा जा रहा है कि ये वायरस हालांकि आमतौर पर हंता वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं जाता है.

हंतावायरस के लक्षण

 

हंता के संक्रमण का पता लगने में एक से आठ हफ्तों का समय लग सकता है. अगर कोई व्यक्ति हंता संक्रमित है तो उसे बुखार, दर्द, सर्दी, बदन दर्द, उल्टी जैसी परेशानियां हो सकती हैं.

हंतावायरस क्यों खतरनाक

 

हंता संक्रमित व्यक्ति की हालत बिगड़ने पर फेफड़ों में पानी भर सकता है, सांस लेने में परेशानी हो सकती है. चीन में एक मौत से साफ है कि इस वायरस को हल्के में नहीं ले सकते. इससे पहले साल 2019, जनवरी माह में हंता से संक्रमित नौ लोगों की पेटागोनिया में मौत हो गई थी. 60 मामले सामने आए थे, जिनमें 50 को क्वारंटीन रखा गया था.

हंतावायरस का इलाज क्या है

 

CDC की मानें तो हंता वायरस का कोई इलाज नहीं है.ना ही इसके लिए कोई वैक्सीन है. इसके मरीजों को सर्पोटिव ट्रीटमेंट ही दिए जाते हैं. बिल्कुल उसी तरह जैसे कोरोनावायरस के इलाज में दिए जाते हैं. CDC ने ये भी कहा है कि कुछ खास तरह के बुखार में प्रयोग की जाने दवा Ribavirin इसके इलाज में कारगर नहीं है. शुरुआत में ही मरीज को आईसीयू में रखना पड़ सकता है. इसलिए चूहों से दूर रहें. इस तरह के लक्षणों वाले व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें.