कान आपके शरीर का सबसे जरूरी अंग होते हैं और इनकी देखभाल काफी जरूरी होती है। कई बार लोगों के कान में असहनीय दर्द होने लगता है। ये दर्द लगातार तेज आवाज में सुनते रहने से, कान में चोट की वजह से, कोई कीड़ा कान में चले जाने  या संक्रमण से ये दर्द होने लगता है। अधिकतर देखा गया है कि कान का दर्द रात में होता है और बच्चों में ये सम्स्या ज्यादा होती है। कान में दर्द की समस्या बारिश और सर्दी के मौसम में ज्यादा होती है। अगर आपको कान में दर्द हुआ है, तो ये कुछ घरेलू उपाय जरूर जान लीजिए ताकि भविष्य में आप कान के दर्द से बचे रहें और दूसरों को भी बता सकें

ऑलिव ऑयल
कान के दर्द में ऑलिव ऑयल जल्द राहत दिला सकता हैं। ऑलिव ऑयल को हल्का सा गर्म कर लें। जिस कान में दर्द हो उस कान में 3-4 बूंदें डालें और फिर रुई लगा लें। इसी तरह से आप सरसों के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

नमक
नमक हर घर में उपलब्ध होता हैं नमक लें उसको माइक्रोवेव में या तवे पर 5 मिनट ले लिए गरम करें फिर कपडे में बांधकर पोटली बना लें। इस पोटली को जिस कान में दर्द हो उसके ऊपर रखें। इससे जो गर्मी निकलेगी वह आपके कान के दर्द आराम पहुंचाएगी। यह भी पढ़ें: दिल का दौरा टालने के लिए 9 बातें जरूरी

गरम पानी की बोतल
कान में दर्द होने के साथ पूरे जबड़े में दर्द होने लगता है। ऐसे में गरम पानी की बोतल बहुत असरदार हैं। एक गरम पानी की बोतल लें और उसे कान में जहां दर्द हैं वहां लगायें निश्चय ही आपको आराम मिलेगा।

हेयर ड्रायर
कभी कभी नहाते वक्त कान में पानी चले जाने से भी दर्द होने लगता है। अगर कभी ऐसा हो तो हेयर ड्रायर से कान की नमी सुखाएं। इससे अगर कान के अंदर पानी भरा होगा तो वो सूख जाएगा।

प्याज
प्याज में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक तत्व होते हैं जो कान दर्द में आराम दिलाने में बहुत कारगर हैं। आप 2-3 प्याज लेकर उन्हें पीस लें। अब इसका रस अपने कान में डालें। 10 मिनट के लिए आपको कान के दर्द में जरुर आराम मिलेगा। यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य के लिहाज से आंवला से बेहतर कुछ भी नहीं

लहसुन
लहसुन में दर्दनाशक तथा एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो कान के संक्रमण से पैदा हुए दर्द को कम करने में काफी सहायता करते हैं। थोड़े से तिल के तेल में लहसुन की 4-5 कलियां डालकर गर्म करें। ठंडा होने के बाद इसे छान लें। इस तेल की दो से तीन बूंदों को कान में डालें। आप सीधे लहसुन के कुछ कलियों का रस निकालकर भी अपने कान में डाल सकते हैं।

अदरक
अदरक अपने दर्द निवारक और एंटी बायोटिक गुणों के लिए जाना जाता है। अदरक का रस कान के कई तरह के संक्रमणों की स्थिति में आपकी सुरक्षा करता है। कान में दर्द होने पर ये तेजी से आराम दिलाता है। अदरक का ताज़ा रस निकालकर अपने कान में डालने से दर्द, जलन और सूजन से काफी राहत मिलती है।

शलजम
शलजम भी कानो दर्द का बेहतरीन घरेलू इलाज है। शलजम के टुकड़ों को सरसों के तेल में गर्म करें। इसके बाद इसे ठंडा करके छान लें। इस तेल की कुछ बूंदें अपने कान में डालें।

मुलैठी
मुलैठी एक बेहतरीन जड़ीबूटी है जिससे आपको कान के दर्द से राहत मिलती है। मुलैठी पाउडर को शुद्ध मक्खन के साथ गर्म करके एक गाढा पेस्ट बनाएं। इस मिश्रण को अपने प्रभावित कान के बाहर तब तक लगाएं, जब तक कि आपके कान के दर्द में कोई सुधार नहीं आ जाता। यह भी पढ़ें: ठंडा पानी पीने से हो सकते हैं ये नुकसान

तुलसी
तुलसी का प्रयोग कान के सामान्य दर्द और संक्रमणों का उपचार करने के लिए किया जाता है। यह सामान्य या संक्रमण से होने वाले दर्द में तुलसी तुरंत आराम दिलाती है। तुलसी की ताज़ा पत्तियों को निचोड़कर इनसे रस निकालें। इसे कान के आसपास लगाएं और कुछ बूंदें भीतर भी डालें।

पुदीना
पुदीने के पत्ते और तेल दोनों ही कान के दर्द को दूर करने में काफी असरदार साबित होते हैं। दर्द हो रहे कान में पुदीने का ताज़ा रस डालने से जल्द आराम होता है। वैकल्पिक तौर पर पुदीने के तेल का प्रयोग कान के आसपास करें। आप पुदीने के तेल का मिश्रण जैतून के तेल के साथ कर सकते हैं।