आज दुनिया में तनाव मुक्‍त और स्‍वस्‍थ जीवन जीने के लिए योग अहम भूमिका निभा रहा है. सबसे ज्‍यादा तनाव मुक्‍त जीवन के लिए योग के अंतर्गत योगासान, प्रणायाम, ध्‍यान यानि मेडिटेशन को दुनिया भर के लोग अपना रहे हैं. लेकिन अक्‍सर देखने में यह आ रहा है कि इन प्रक्र‍ियाओं के इतने तरीके या पद्धतियां सामने आ गईं हैं कि अक्‍सर लोग भ्रमित में हो जाते हैं कि कौन बेहतर है और कौन नहीं. ऐसे में आपको यहां मेडिटेशन के बारे में कुछ अहम बिंदु बताने जा रहे हैं, जो आपको बेहतर मेडिटेशन को चुनने में मदद ही नहीं करेंगे, बल्कि आप अच्‍छे तरीके से ध्‍यान भी कर सकेंगे. बता दें कि ध्‍यान करना सबसे आसान है और इसमें किसी, धर्म, परंपरा या विश्‍वास, भक्ति या एकाग्रता की जरूरत नहीं है. ध्‍यान का सीधा अर्थ यही है कि जो हमारे चंचल मन को शांत कर दे. अगर मन शांत हो गया मतलब आपका ध्‍यान हो गया. हम यहां आपको हुए मेडिटेशन करने के तरीके के बारे में बताएंगे. ध्‍यान यानि मेडिटेशन के बारे में बताने जा रहे हैं कि यह बेहद आसान भी है और इसे बहुत आसानी के साथ किया जा सकता है.

मेडिटेशन करने से मन शांत हो गया तो शरीर को गहरा विश्राम (REST) मिल गया. हार्ट, ब्रेन, लंग्‍स, हार्मोनल सिस्‍टम, नर्वस सिस्‍टम आदि को भी विश्राम मिला. प्रत्‍येक प्राणी को क्रिया करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है और यह विश्राम के बाद मिलती है. जैसे कोई व्‍यक्‍ति सारा दिन काम करता है तो उसके लिए रात की नींद यानि विश्राम जरूरी है ताकि अगले दिन वह फिर से अपना कार्य अच्‍छे तरीके से कर सके. लेकिन आज अधिक तनाव और काम के बोझ के इतने दुष्‍प्रभाव हैं कि रात की नींद से पर्याप्‍त विश्राम नहीं मिलता है और इसके चलते कार्यक्षमता प्रभावित होती है. आसान तरीके से मेडिटेशन के लिए यहां इन 10 बातों का खयाल रखें…

1. आराम से किसी आसन पर बैठ जाएं

2. शांत होकर बैठें और अपनी आंखें बंद करें

3. धीरे-धीरे सांस लें लेकिन सांसों की ओर ध्‍यान देना जरूरी नहीं है

4. अपने शरीर की सभी मांसपेशियों को बिलकुल रिलैक्‍स में रखें

5. कोई ऐसा शब्‍द चुने जैसे ओम या जिसका कोई अर्थ न हो

6. धीरे- धीरे इस शब्‍द को दोहराएं लेकिन जोर नहीं रखें

7. जब भी कोई विचार आए तो उसे जबरन हटाना नहीं, बल्कि अपने शब्‍द को आराम से रिपीट करना शुरू कर दें

8 . ध्‍यान के दौरान माइंड को कहीं पर भी एकाग्र नहीं करना है

9 . ध्‍यान के दौरान किसी देवी, देवता या गुरुजी के नाम को नहीं लेना है अगर आ जाए तो ध्‍यान मत दीजिए

10 . लगभग 10 से 15 मिनट तक ध्‍यान कीजिए. आप देखेंगे कि आपका मन धीरे-धीरे शांत हो गया