नए प्रैक्‍ट‍िसनर्स को मेडिटेशन की आखिर शुरुआत कैसे करना चाहिए. इस बारे में वैसे तो बहुत से मेडिटेशन एक्‍टसपर्ट्स ने सैकड़ों तरीके बताएं हैं, लेकिन हम आपको यहां मेडिटेशन की सही शुरुआत करने के लिए इतना आसान और प्रभावी तरीका बताएंगे, जिससे आपको ज्‍यादा से ज्‍यादा फायदा होगा. यहां नए मेडिटेशन प्रैक्टिसनर्स को बता दें कि ध्‍यान का हमारा लक्ष्‍य सीधे मन को शांत करना है, न कि उसे कहीं फोकस करना या किसी मंत्र या गॉड का नाम लेना है. आप यहां कुछ सामान्‍य नियमों का खयाल रखते हुए बेहतर ढंग से मेडिटेशन कर सकते हैं….

1. नए मेडिटेशन प्रैक्टिसनर्स को किसी शांत जगह या घर के शांत स्‍थान को चुनना चाहिए जहां आवाजें कम आती हों या शोर नहीं होता हो

2. मेडिटेशन करने के लिए किसी आरामदायक आसन में बैठें, कुर्सी या सोफे पर भी बैठकर मेडिटेशन किया जा सकता है

3. आसन पर बैठे लेकिन आराम से, शरीर को ढ़ीला रखें, बॉडी को अकड़कर नहीं रखें

4. सुखासन का मतलब है आपको बैठने में जैसे आराम हो, लेकिन टिकना नहीं है और लेटना नहीं है

5. मेडिटेशन करने से पहले प्राणायायम करें, इसके लिए नाड़ी शोधन प्रणायाम सबसे सरल और आसान है

6. ध्‍यान शुरू करने से पहले मन को सहज और शांत रखें और फिर आंखें धीरे-धीरे बंद करें

7. जब आप ध्‍यान शुरू करते हैं तो बहुत से विचार आते हैं तो आप इन विचारों को इग्‍नोर कीजिए, इन पर ध्‍यान नहीं देना है

8. शांति या पीस या ओम जिसका कोई अर्थ नहीं है उसे आराम से मानसिक तौर पर रिपीट करें

9. शांति या पीस या ओम को मानसिक तौर पर ही लेना है, स्‍पष्‍ट उच्‍चारण नहीं करना है

10. कई बार आप शांति या पीस या ओम को ध्‍यान के दौरान भूल जाते हैं तो कोई बात नहीं दोबारा आराम से इसे ले लें

11. इस तरह से आपको लगभग 15-20 मिनट मेडिटेशन करना है

12. मेडिटेशन करने के बाद शवासन करें, इसके बाद धीरे-धीरे एक्‍ट‍िव हों