नई दिल्ली: एक ओर जहां कई अध्ययनों में पता चला है कि दुनियाभर में कोविड-19 से महिलाओं के मुकाबले पुरुषों की जान को अधिक खतरा है, वहीं दूसरी ओर भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से हुई मौतों पर किये गए एक विश्लेषण में सामने आया है कि इससे पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की मृत्यु का खतरा ज्यादा है. Also Read - यूएस प्रेसिडेंट ट्रंप के बेटे की प्रेमिका Coronavirus से पॉजिटिव, जूनियर ट्रंप पृथक-वास में

नयी दिल्ली के आर्थिक विकास संस्थान के अभिषेक कुमार समेत कई वैज्ञानिकों ने भारत में आयु और लिंग पर आधारित कोविड-19 मृत्यु दर का शुरुआती अनुमान लगाया है. ग्लोबल हेल्थ साइंस जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन में भारत में कोविड-19 से हुई मौतों के विश्लेष किया गया है. अध्ययन के अनुसार भारत में पुरुषों के बीच कोविड-19 मृत्युदर 2.9 प्रतिशत जबकि महिलाओं के बीच 3.3 फीसदी है. Also Read - Pakistan Coronavirus latest Update: पाकिस्तान में कोरोनावायरस के 3,387 नए मामले सामने आए, संक्रमितों की संख्या 2 लाख 25 हजार से अधिक

अध्ययन में कहा गया है कि 20 मई 2020 तक भारत में कोविड-19 से जितने लोग संक्रमित पाए गए उनमें 66 प्रतिशत पुरुष और 34 प्रतिशत महिलाएं थीं. इसी तरह आयुवर्ग के आधार पर संक्रमण की बात की जाए तो पांच साल से कम और बुजुर्ग आयु वर्ग दोनों लिंगों में संक्रमण बराबर बराबर पाया गया. Also Read - Coronavirus in Rajasthan Update: कोविड-19 संक्रमण के 204 नए मामले, अब तक 443 लोगों की हुई मौत, जानें कहां कितने केस

उन्होंने कहा कि पुरुषों की जान को अधिक खतरा है. यह स्पष्ट नहीं है कि पुरुषों के बीच मृत्युदर लिंग के कारण अधिक है या फिर आयु-वर्ग के कारण.